CM नीतीश का चुनावी मास्टस्ट्रोक, शिक्षकों की सैलेरी बढ़ोतरी को कैबिनेट की मंजूरी

Smart News Team, Last updated: 18/08/2020 08:28 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव से पहले बड़ा दांव खेलते हुए सीएम नीतीश कुमार ने शिक्षकों की सैलेरी 20 फीसदी से ज्यादा बढ़ा दी है. अप्रैल 2021 से यह फैसला लागू किया जाएगा.
नीतीश कुमार का चुनावी दांव

पटना. बिहार चुनाव से पहले बड़ा दांव खेलते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कैबिनेट ने शिक्षकों और लाइब्रेरियनों की बेसिक सैलेरी में 15 परसेंट का इजाफा करने का फैसला किया है. साल 2006 से नौकरी कर रहे शिक्षकों पर यह फैसला लागू किया जाएगा. ईपीएफ में सरकार के सहयोग के बाद शिक्षकों को सैलेरी में 20 प्रतिशत से ज्यादा इजाफा मिलेगा.

नीतीश कुमार सरकार के इस फैसले का फायदा राज्य के साढ़े तीन लाख से ज्यादा शिक्षकों को होगा. सरकार का यह फैसला 21 अप्रैल 2021 से प्रभावी होगा.

किसी को तय सजा से ज्यादा समय जेल में नहीं रख सकते: पटना हाईकोर्ट

इसके साथ ही नीतीश कुमार की कैबिनेट ने नियोजित शिक्षकों के लिए सेवा शर्त नियमावली पर भी मुहर लगा दी है. बताया जा रहा है कि नीतीश सरकार के इस फैसले से हर साल करीब 28 करोड़ रुपये का बोझ बढ़ जाएगा.

पटना लॉकडाउन में बसों का अवैध परिचालन, यात्रियों से वसूला जा रहा तीन गुना किराया

मालूम हो कि बीते 15 अगस्त को पटना के गांधी मैदान में नीतीश कुमार ने अपने भाषण में कहा था कि वे जल्द ही बिहार के नियोजित शिक्षकों के लिए नई सेवा शर्त नियमावली लागू करेंगे. बिहार में नियोजित शिक्षक पिछले कई सालों से इसी नई सेवा शर्त नियमावली के लागू करने की मांग कर रहे थे.

बिहार में चुनाव इसी साल होने हैं. ऐसे में नीतीश कुमार का यह दांव उन्हें राजनीतिक फायदा पहुंचा सकता है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें