नीतीश सरकार की कैबिनेट में बख्तियारपुर-ताजपुर पुल निर्माण के लिए 936 करोड़ की मंजूरी

Ankul Kaushik, Last updated: Tue, 22nd Feb 2022, 9:22 AM IST
  • पिछले 11 साल से अधर में लटके पटना के बख्तियारपुर और समस्तीपुर के ताजपुर को जोड़ने वाले पुल के निर्माण की बाधा अब दूर हो गई है. सीएम नीतीश कुमार की कैबिनेट बैठक में इस पुल के निर्माण के लिए 936 करोड़ रुपये की मंजूरी मिली है.
बख्तियारपुर-ताजपुर गंगा पुल (फाइल फोटो)

पटना. बख्तियारपुर-ताजपुर गंगा पुल का निर्माण पिछले 11 साल से अधर में लटका हुआ है. हालांकि अब इस पुल की बाधा दूर हो गई है. सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक एक बड़ा फैसला हुआ, इस फैसले में बख्तियारपुर-ताजपुर पुल के लिए 936 करोड़ की मंजूरी दे दी गई. मौजूदा समय इस पुल के निर्माण के लिए 2875 करोड़ हो गई है. पटना के बख्तियारपुर और समस्तीपुर के ताजपुर को जोड़ने वाले 5.51 किमी के पुल का लगभग 52 फीसदी काम ही अब तक पूरा हो चुका है. इस पुल के लिए 272 पिलरों का जमीनी काम हो चुका है.

इस पुल का निर्माण कार्य जून 2011 में शुरू हुआ था लेकिन जमीन अधिग्रहण और फिर एजेंसी की वित्तीय स्थिति खराब होने के कारण परियोजना तय समय पर पूरी नहीं हो सकी. इस पुल के निर्माण काम के समय में ही एजेंसी की एक महंगी मशीन खराब हो गई थी और इस कारण एजेंसी की वित्तीय स्थिति खराब हो गई और पुल का निर्माण अधर में लटक गया.

पटना रिंग रोड: सिक्स लेन ब्रिज के भूमि अधिग्रहण का नोटिफिकेशन जारी, इनको होगा लाभ

पथ निर्माण विभाग मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि बख्तिारपुर-ताजपुर निर्माणाधीन 4 लेन पुल है. इस परियोजना के शेष कार्य को पूरा करने के लिए 936 करोड़ एजेंसी को देने की कैबिनेट से मंजूरी दे दी गई है. अब इसका निर्माण कार्य शुरू होगा. इस पुल के बन जाने से नवादा, मुंगेर या नालंदा से आने वाली गाड़ियां उत्तर बिहार की तरफ जाने से पहले ही पटना आने की जरूरत नहीं होगी और इस पुल से 60 किमी की दूरी बचेगी. 

पटना: रूपसपुर ओवर ब्रिज के पिलर पर चढ़ा युवक, पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद नीचे उतारा

बिहार में गंगा पुलों की बात करें तो इसमें बक्सर पुल, आरा-छपरा, जेपी पुल, गांधी पुल, राजेंद्र पुल, मुंगेर पुल और विक्रमशिला पुल हैं, इसके साथ ही निर्माणाधीन पुल की बात करें तो शेरपुरा-दीघवाड़ा, जेपी सेतु के समानांतर, गांधी सेतु के समानांतर, कच्ची दरगाह-बिदुपुर, बख्तियारपुर-ताजपुर, मोकामा पुल के समानांतर, विक्रमशिला सेत समानांतर और प्रस्तावित के लिए मटिहानी से शाम्हो के बीच का पुल है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें