नीतीश सरकार ने फसल क्षति मुआवजे के लिए नियमों में किया बदलाव, ऐसे करें आवेदन

ABHINAV AZAD, Last updated: Thu, 9th Sep 2021, 5:45 PM IST
  • कोरोना संक्रमण के कारण बिहार सरकार के कृषि विभाग ने जांच प्रक्रिया में बदलवा किया है. पहले किसानों को मुआवजा पाने के लिए अपने खेत में खड़े होकर फोटो खिंचवाना पड़ता था, अब उसकी जरूरत नहीं होगी.
(प्रतिकात्मक फोटो)

पटना. बिहार में पिछले दिनों में भारी बारिश हुई. इस बारिश का किसानों के फसल पर भी बुरा असर पड़ा. राज्य के कई इलाकों में किसानों की फसलें खराब होने की खबरें आई. लेकिन अब किसानों के लिए अच्छी खबर है. दरअसल, बिहार की नीतीश सरकार बारिश से हुई फसलों के नुकसान के बाद किसानों की मदद के लिए आगे आई है. इसी के तहत सीएम नीतीश ने राज्य के सभी जिलाधिकारियों और कृषि विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे 'बाढ़ के कारण फसलों की बुवाई न करने' को 'फसल नुकसान का मामला' मानें और ऐसे किसानों को पर्याप्त सहायता प्रदान करें.

गौरतलब है कि यास तूफान के दौरान बिहार में बड़े पैमाने पर किसानों की फसलें बर्बाद हुई थी. जिसके बाद सरकार ने नुकसान की भरपाई के लिए राशि का वितरण और आवेदनों की जांच साथ-साथ कराने का आदेश दिया था. कोरोना संक्रमण के कारण राज्य सरकार के कृषि विभाग ने जांच प्रक्रिया में बदलवा किया है. दरअसल, पहले किसानों को मुआवजा पाने के लिए अपने खेत में खड़े होकर फोटो खिंचवाना पड़ता था, अब उसकी जरूरत नहीं होगी.

बिहार पंचायत चुनाव में वोट नहीं कर पांएगी दूसरे राज्यों से आई नई दुल्हनें, EC का फैसला

किसानों की मदद के लिए बिहार सरकार के कृषि विभाग ने एक हेल्पलाइन शुरू किया है. दरअसल, यह एक टॉल फ्री नंबर होगा. 1800180155 पर फोन कर किसान जरूरी जानकारी सकते हैं. साथ ही किसान अधिक जानकारी के लिए जिला कृषि पदाधिकारी से भी किसान संपर्क कर सकते हैं. बता दें कि किसान आवेदन के लिए बिहार कृषि विभाग की वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें