इन महिलाओं के खाते में लाखों रुपए डालेगी नीतीश सरकार, ऐसे उठाएं स्कीम का लाभ

Swati Gautam, Last updated: Tue, 14th Dec 2021, 6:51 PM IST
  • बिहार में नीतीश कुमार सरकार की मुख्यमंत्री नारी शक्ति योजना के तहत नव स्वीकृत ‘सिविल सेवा प्रोत्साहन राशि’ योजना का लाभ अब तक सामान्य वर्ग की महिलाओं को मिलता था लेकिन अब पिछड़े वर्ग की महिलाओं को भी सरकार एक लाख रुपए की आर्थिक मदद देगी. योजना का लाभ केवल उन महिलाएं को मिलेगा जिन्होंने यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा पास की है.
इन महिलाओं के खाते में लाखों रुपए डालेगी नीतीश सरकार, ऐसे उठाएं स्कीम का लाभ. file photo

पटना. बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने राज्य की पिछड़े वर्ग की महिलाओं के लिए भी मुख्यमंत्री नारी शक्ति योजना के तहत नव स्वीकृत ‘सिविल सेवा प्रोत्साहन राशि’ योजना का लाभ देने का फैसला लिया है. बता दें कि इस योजना के तहत अब तक केंद्र लोक सेवा आयोग यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा पास करने वाली सामान्य वर्ग की महिलाओं को 1 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाती थी लेकिन अब से पिछले वर्ग की महिलाओं को भी इस योजना का लाभ मिल सकेगा. इसके लिए महिलाओं को ऑनलाइन आवेदन करना होगा जिसकी अंतिम तिथि 31 दिसंबर रखी गई है.

अगर आपने भी केंद्र लोक सेवा आयोग यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा पास कर चुकी हैं तो आप योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकती हैं. आवेदन https:// fts. bih. nic. in/ swdscholarship/ default. html इस लिंक के माध्यम से किया जा सकता है. याद रहे कि इस योजना का लाभ लेने के लिए आपका बिहार निवासी होना अनिवार्य है. इसके अलावा उम्मीदवारों के एड्रेस का सबूत, पहचान पत्र, अपना बैंक खाता और आधार कार्ड होना भी जरूरी है.

CM नीतीश का बिहार को सौगात, 1919 करोड़ की योजना का करेंगे उद्घाटन

मुख्यमंत्री नारी शक्ति योजना का लाभ लेने के लिए अब तक राज्य की 46 महिलाओं ने आवेदन किया है. महिला एवं बाल विकास की प्रबंध निदेशक हरजोत कौर बम्हरा ने जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना में सामान्य वर्ग और पिछड़ा वर्ग की उन महिलाएं को 1 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी, जिन्होंने यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा पास की है. उन्होंने आगे बताया कि सारा पैसा एकमुश्त दिया जाएगा ताकि उम्मीदवार यूपीएससी की मुख्य परीक्षा के लिए तैयारी कर सकें और जिसमें आर्थिक मदद मिल सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें