बिहार में घर बैठे मिलेंगे जमीन का नक्शा समेत 26 दस्तावेज, ऑनलाइन होगी सुविधा

Smart News Team, Last updated: Mon, 7th Jun 2021, 4:36 PM IST
  • बिहार में अब जमीन से जुड़े दस्तावेज लोगा घर बैठे ऑनलाइन निकाल सकेंगे. नीतीश सरकार जमीन से जुड़े 26 प्रकार के दस्तावेजों को डिजिटलाइज्ड कर रही है. इसके लिए रिकॉर्ड रूम तैयार किए जा रहे हैं. इस व्यवस्था के लागू होने से लोगों को सरकारी दफ्तरों में नहीं दौड़ना पड़ेगा.
जमीन से जुड़े 26 प्रकार के दस्तावेजों को डिजिटलाइज्ड किया जा रहा है. प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. बिहार में जमीन के दस्तावेजों के लिए सरकारी कार्यालय नहीं भागना पड़ेगा. अब घर बैठे ही जमीन का नक्शा और खतियान समेत 26 प्रकार दस्तावेज मिल सकेंगे. बिहार में जमीन से जुड दस्तावेजों को डिजिटलाइज किया जा रहा है. जिससे लोग घर बैठे ही ऑनलाइन जमीन से जुड़ेगे कागजात निकाल सकेंगे. माना जा रहा है कि ये व्यवस्था अगले महीने से शुरू हो जाएगी.

मिली जानकारी के बिहार सरकार की इस व्यवस्था के तहत रिकॉर्ड रूम में खतियान, नक्शा और रजिस्टर टू समेत जमीन से जुड़े 26 प्रकार के डाक्यूमेंट डिजिटल फॉर्म में रहेंगे. इन दस्तावेजों की डिजिटिलाइज्ड करने की प्रक्रिया आखिरी दौर में है. इसके लिए 436 अंचलों में रिकॉड रूम तैयार हैं और इसके लिए दो मंजिला भवन बनाए गए हैं.

आयकर विभाग आज लॉन्च करेगा नया ई-फाइलिंग पोर्टल, जानें विशेषताएं

रिकॉर्ड रूम में चार कंप्यूटर, प्रिंटर और स्कैनर जैसे उपकरण दिए गए हैं. यहां की का पूरा सीसीटीवी कैमरे की नजर में होगा. जिन जगहों पर रिकॉर्ड रूम तैयार है, वहां पर इस व्यवस्था को लागू कर दिया जाएगा. सभी जिलों में अपर कलेक्टर को रिकॉर्ड रूम के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है.

आपको बता दें कि अभी बिहार सरकार सिर्फ जमीन के नक्शे को ऑनलाइन उपलब्ध करा रही है. इसके अलावा 150 रुपए देकर डाक से भी जमीन का नक्शा मंगाया जा सकता है. इस व्यवस्था के लागू होने से नक्शा समेत जमीन से जुड़े 26 दस्तावेजों को घर बैठे ऑनलाइन निकाल सकेंगे. इसके लिए कीतनी फीस ली जाएगी, ये अभी तय होना बाकी है. रिकॉर्ड रूम की एसओपी तैयारी की जा रही है. नियमावली तैयार होने के बाद इस व्यवस्था को शुरू किया जाएगा.

Video: नीतीश की शराबबंदी की शपथ लेकर भी थाने को बनाया मयखाना, मुंशी अरेस्ट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें