बिहार पंचायत चुनाव की तारीख का आगे बढ़ना तय, जानें इलेक्शन में देरी की वजह

Smart News Team, Last updated: 10/03/2021 04:53 PM IST
  • बिहार पंचायत चुनाव की तारीखों में बदलाव तय माना जा रहा है. नई ईवीएम मशीन की खरीद होने की वजह से ऐसा हो रहा है. चुनाव आयोग ने राज्य निर्वाचन आयोग को एम3 जेनरेशन की ईवीएम खरीदने को लेकर एनओसी नहीं दिया है. ये मामला अब कोर्ट में पहुंच चुका है.
राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव आयोग से नई ईवीएम की खरीद के लिए एनओसी की मांग की है.

पटना. बिहार पंचायत चुनाव की तैयारी जोरों पर हैं. इसी बीच पंचायत चुनाव की डेट बढ़ना तय माना जा रहा है. राज्य निवार्चन आयोग के अनुसार, एनओसी मामले की वजह से पंचायत चुनाव में एक महीने की देरी हो चुकी है. राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव आयोग से एम3 जेनरेशन की ईवीएम खरीद को लेकर एनओसी की मांग की थी. जिसे चुनाव आयोग ने अभी तक नहीं दी है. जिस वजह से बिहार पंचायत चुनाव में देरी हो रही है.

बिहार पंचायत चुनाव में एम3 जेनरेशन की ईवीएम खरीदने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग एनओसी के लिए चुनाव आयोग को कई बार पत्र भी लिख चुका है. राज्य निर्वाचन आयोग ने एनओसी के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटकटाया है. कार्यालय स्तर पर राज्य निर्वाचन आयोग और चुनाव आयोग के बीच बातचीत चल रही है.

शराबबंदी पर विपक्ष ने सदन में किया हंगामा, RJD ने की CM नीतीश के इस्तीफे की मांग

राज्य निर्वाचन आयोग और चुनाव आयोग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से एक बैठक भी कर चुकी है. इस मीटिंग में भी राज्य निर्वाचन आयोग ने एम3 जेनरेशन की ईवीएम को लेकर अपना पक्ष रखा. आपको बता दें कि बिहार की त्रिस्तरीय पंचायती राज संस्थाओं का कार्यकाल जून 2021 में खत्म हो रहा है. इसको देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने अप्रैल से मई तक चुनाव कराने की योजना बनाई थी.

पंचायत चुनाव को लेकर तैयारियां तेज़, मतदाता सूची में भभुआ के करीब 10 लाख वोटर्स

फरवरी के आखिरी सप्ताह में राज्य निर्वाचन आयोग पंचायत चुनाव की तारीखों को ऐलान करने वाला था. अब नई ईवीएम मशीनों की खरीद न होने की वजह से अभी तक न ही इस बारे में तारीखों की घोषणा की है और न ही अधिसूचना जारी की गई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें