पार्टी सिंबल पर बिहार पंचायत चुनाव नहीं लड़ पाएंगे उम्मीदवार, नाम पर प्रचार भी किया तो..

Smart News Team, Last updated: 17/03/2021 10:14 PM IST
  • बिहार पंचायत चुनाव दलगत आधार पर नहीं होगा. चुनाव में प्रत्याशी किसी भी पार्टी से उम्मीदवारी नहीं ठोक सकेंगे. यहां तक की अगर नाम लेकर प्रचार भी किया तो कार्रवाई की जाएगी.
 पार्टी सिंबल पर बिहार पंचायत चुनाव नहीं लड़ पाएंगे उम्मीदवार, नाम पर प्रचार भी किया तो.. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना. बिहार में होने जा रहा पंचायत चुनाव दलगत आधार पर नहीं होगा. यानी उम्मीदवार किसी भी राजनीतिक पार्टी के सिंबल से चुनावी मैदान में नहीं उतर सकेंगे. अगर कोई उम्मीदवार किसी भी पार्टी का नाम और झंडे की आड़ में चुनाव प्रचार करता है तो उसके खिलाफ भारी कार्रवाई की जाएगी. चुनाव आयोग ने सभी जिलों को आदर्श आचार संहिता को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए हैं.

चुनाव आयोग के अनुसार आदर्श आचार संहिता जिला निर्वाचन पदाधिकारी, पंचायत सह जिलाधिकारी की ओर से संबंधित जिले में चुनाव की सूचना प्रकाशित करने के साथ ही प्रभावी हो जाएगी जो चुनाव के खत्म होने तक रहेगी. आयोग के अनुसार, आचार संहिता के दौरान कोई भी प्रत्याशी ऐसा कार्य नहीं करे जिससे किसी धर्म, संप्रदाय या जाति के लोगों की भावना को ठेस पहुंचे या उनमें विद्वेष या तनाव पैदा हो.

पटना में शराब की होम डिलीवरी पर लगेगी लगाम, पुलिस ने की खास तैयारियां, जानें

वहीं चुनाव आयोग के अनुसार चुनावी इलाके में वोटिंग खत्म करने के लिए निर्धारित समय से 48 घंटे पहले तक की अवधि के दौरान कोई भी व्यक्ति न तो सार्वजनिक सभा बुलाएगा और न ही आयोजित करेगा या उसमें शामिल होगा. बिहार पंचायतीराज अधिनियम, 2006 के तहत अपराध घोषित कार्यों से उम्मीवार को परहेज करना चाहिए.
बिहार विधानसभा में स्पीकर से अभद्रता, मंत्री ने कहा- व्याकुल ना हों अध्यक्ष जी

वहीं चुनाव आयोग के निर्देशों अनुसार, बिहार में शराबबंदी है इसलिए किसी भी उम्मीदवार द्वारा न तो गैर कानूनी शराब की खरीदारी हो, ना कहीं बांटी जाए. प्रत्येक उम्मीदवार अपने कार्यकर्ताओं को भी ऐसे कार्य करने से रोकें.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें