बिहार पंचायत चुनाव: 25 फरवरी से मिलेगी मतदाता सूची, हर पेज की होगी 2 रुपए फीस

Smart News Team, Last updated: 10/02/2021 12:31 AM IST
  • पंचायत चुनाव नजदीक है जिसे लेकर काफी राज्य निर्वाचन आयोग तैयारियों में जुट चुका है. पंचायच चुनाव के लिए 25 फरवरी से मतदान सूची मिलनी शुरू हो जाएगी जिसके लिए प्रति पृष्ठ पर दो रूपए देने होंगे. राज्य निर्वाचन आयोग ने इसे लेकर निर्देश जारी की है जिसके तहत 19 फरवरी तक हर जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारियों इसे प्रकाशित करना होगा.
पंचायच चुनाव के लिए 25 फरवरी से मतदान सूची मिलनी शुरू हो जाएगी.(फाइल फोटो)

पटना. बिहार में पंचायत चुनाव नजदीक है जिसे लेकर काफी राज्य निर्वाचन आयोग तैयारियों में जुट चुका है.  पंचायच चुनाव के लिए 25 फरवरी से मतदान सूची मिलनी शुरू हो जाएगी जिसके लिए प्रति पृष्ठ पर दो रूपए देने होंगे. राज्य निर्वाचन आयोग ने इसे लेकर निर्देश जारी की है जिसके तहत 19 फरवरी तक हर जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारियों इसे प्रकाशित करना होगा. सभी जिलों को इसके तहत 24 फरवरी तक मतदान सूची का प्रकाशन करना अनिवार्य होगा. 

बिहार निर्वाचन आयोग ने कहा है कि मतदान सूची को अगले 14 दिनों तक प्रकाशित किया जाएगा. इसके लिए आयोग के तरफ से तैयारियां की जा रही है. प्रकाश का कार्य अगल-अगल कार्यालयों में किया जाएगा. ग्राम पंचायत प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र से संबंधित मतदाता सूची ग्राम पंचायत कार्यालय या प्रखंड कार्यालय में किया जाएगा. इसके अलावा पंचायत समिति प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र से संबंधित प्रखंड के कार्यालय में किया जाएगा. वहीं जिला परिषद प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र से संबंधित मतदाता सूची प्रखंड कार्यालय एवं जिला दंडाधिकारी के कार्यालय में प्रकाशन किया जाएगा.

बिहार कैडर के 12 IAS जाएंगे प्रशिक्षण पर, मसूरी में होगा कार्यक्रम

आयोग ने सभी जिलों को निर्देश दिया है कि मतदाता सूची का संरक्षण भी करें. इसके लिए जिला निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा मतदाता सूची की प्रति अभिलेखागार में सुरक्षित रखी जाएगी. राज्य निर्वाचन आयोग, बिहार के निर्देश पर सभी जिलों के जिलाधिकारी कार्यालय एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी कार्यालयों में स्थानीय मतदाता सूची उपलब्ध होगी. आयोग द्वारा निर्धारित शुल्क जमा करने पर कोई भी व्यक्ति मतदाता सूची की प्रमाणित प्रति प्राप्त कर सकेगा.

पटना में स्कूल से वापस लौटे छात्र, कमरों में पुलिस के रुकने से नहीं हुई पढ़ाई

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें