पटना

अब कोरोना के खिलाफ जंग होगी और तेज, बिहार सरकार 50 हजार एंटीजन किट खरीदेगी

Smart News Team, Last updated: 22/07/2020 11:56 AM IST
  • कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की पहचान करने में तेजी लाने और जांच की संख्या बढ़ाने के लिए बिहार सरकार 50 हजार एंटीजन रैपिड टेस्ट किट की खरीदेगी।
एंटीजन किट से रोजाना हो रही 10 हजार कोरोना सैम्पल की जांच

बिहार में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग अब और तेज होने वाली है। बिहार में कोरोना वायरस जिस तेजी से पांव पसार रहा है, उसे देखते हुए सरकार सभी प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों तक कोरोना की जांच शुरू करने की तैयारी में जुटी हुई है। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की पहचान करने में तेजी लाने और जांच की संख्या बढ़ाने के लिए बिहार सरकार 50 हजार एंटीजन रैपिड टेस्ट किट की खरीदेगी।

शव का VIDEO वायरल होने व सेंट्रल टीम की फीडबैक पर एक्शन, NMCH के अधीक्षक हटाए गए

दरअसल, बिहार स्वास्थ्य विभाग ने 50 हजार एंटीजन किट की खरीद के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया है और उम्मीद की जा रही है कि आने वाले कुछ दिनों में इसकी प्रक्रिया पूरी भी हो जाएगी। इसके साथ ही केंद्र सरकार से भी एंटीजन किट की आपूर्ति की मांग की गई है।

स्वास्थ्य विभाग के आधिकारिक सूत्रों की मानें तो एंटीजन किट से तुरंत कोरोना वायरस संक्रमण की पहचान होने से कोरोना पीड़ित को आइसोलेट करने में आसानी होती है और समय रहते ही उसका इलाज शुरू हो सकता है।

इसके अलावा, राज्य के 534 प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों पर कोरोना के संक्रमण की प्रारंभिक जांच की सुविधा देने की तैयारी की जा रही है। इससे ग्रामीण इलाकों में प्रखंड स्तर पर मरीजों की पहचान हो जाएगी। लक्षण वाले और बिना लक्षण वाले मरीजों की पहचान कर वहीं आइसोलेशन सेंटर में इलाज शुरू किया जा सकता है।

कोरोना पर पटना आई सेंट्रल टीम ने जो फीडबैक दिया, वह सभी बिहारवासियों को डरा देगा

फिलहाल, बिहार के शहरी प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों पर एंटीजन टेस्ट किट से हर दिन 10 से 25 मरीजों की ही जांच की जा रही है। कई सेन्टरों पर पानी जमा होने या कर्मियों के संक्रमित होने से जांच प्रभावित हुई है। ऐसे में जांच केंद्रों की संख्या बढ़ाने के साथ ही जांच की संख्या भी बढ़ाने का निर्णय लिया गया है, ताकि मरीजों को ऑन डिमांड जांच की सुविधा नजदीकी अस्पताल में मिल सके। स्वास्थ्य विभाग की मानें तो फिलहाल राज्य में 10 हजार सैम्पल की औसत जांच की जा रही है और आने वाले कुछ दिनों में इसे बढ़ाकर 20 हजार किया जाना है।

अन्य खबरें