बिहार: स्वास्थ्य मंत्री से बातचीत में नहीं बनी जूनियर डॉक्टरों की बात,हड़ताल जारी

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Dec 2020, 12:30 AM IST
  • पटना मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों की जारी हड़ताल ने मरीजों को बेहाल कर दिया है. बिहार की नीतीश कुमार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे और प्रधान सचिव से मौखिक आश्वासन मिलने के बावजूद जूनियर डॉक्टर जिद पर अड़े हैं. डॉक्टरों ने लिखित आश्वासन मिलने पर हड़ताल खत्म करने की बात कही है.
पटना मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल जारी है

बिहार की नीतीश कुमार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे और प्रधान सचिव से मौखिक आश्वासन मिलने के बावजूद पटना मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों की हड़ताल जारी है. स्वास्थ्य मंत्री और प्रधान सचिव से आश्वासन मिलने के बावजूद जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल नहीं टूटी है. जूनियर डॉक्टर अपनी जिद पर अड़े हुए और बिना लिखित आश्वासन के काम पर लौटने से साफ मना कर दिया है. डॉक्टरों की इस जिद ने मरीजों को बेहाल कर दिया है.

मरीजों की परेशानी देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के आवास पर जूनियर डॉक्टरों के प्रतिनिधियों ने प्रधान सचिव से बात की. इस मौके पर पीएमसीएच के अधीक्षक डॉक्टर बिमल कारक और प्राचार्य डॉक्टर बीपी चौधरी भी मौजूद रहे. दोनों की मौजदूगी में प्रधान सचिव ने जूनियर डॉक्टरों से काम पर लौटने का आग्रह किया. साथ ही आश्वासन दिया कि कुछ दिनों में उनकी मांगो को पूरा करने का प्रयास किया जाएगा.

इसके साथ ही आईएमए अध्यक्ष के रूप में डॉक्टर बिमल कारक ने भी जूनियर डॉक्टरों की लड़ाई में उनका साथ देने का भरोसा दिया. साथ ही डॉक्टर बिमल कारक जूनियर डॉक्टर को लिखित आश्वासन देने को तैयार हुए कि अगले एक महीने में उनके स्टाइपेंड पर ठोस फैसला किया जाएगा. आईएमए उनकी लड़ाई खुद लड़ेगा. इस आश्वासन के बावजूद जूनियर डॉक्टर हड़ताल खत्म करने को राजी नहीं हुए.

बिहार: नए साल 2021 पर हुड़दंगबाजी की तो पड़ेगा महंगा, चप्पे-चप्पे पर होगी पुलिस

बता दें कि पिछले 7 दिनों से जारी जूनियर डॉ़क्टरों की हड़ताल से पीएमसीएच में इलाज कराने आने वाले मरीज बेहाल है. कई मरीज सड़क पर रात बिताने को मजबूर है. वार्ड में और ओपीडी में सीनियर डॉक्टर किसी तरह काम चला रहे हैं. मरीजों का इलाज अच्छी तरह से नहीं हो पा रहा है. बडी संख्या में मरीज बिना इलाज लौटने को मजबूर हो रहे हैं.

पटना हाईकोर्ट: 4 जनवरी से शुरू होगी फिजिकल सुनवाई, दो शिफ्ट में चलेगी अदालत

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें