स्कूल तो 21 सितंबर से खुल जाएंगे लेकिन कुछ ऐसे होगी कोरोना काल में पढ़ाई

Smart News Team, Last updated: Thu, 17th Sep 2020, 6:52 PM IST
  • कोरोनावायरस के कारण लगे लॉकडाउन के बाद अब फिर से स्कूल खुलने जा रहे हैं. जिसके बाद स्कूलों ने अपनी-अपनी तैयारी शुरु कर दी है. साथ ही छात्रों के अभिवाकों को भी स्कूल से जुड़ी जरुरी बातों के बारे में बता रहे हैं.
प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना: राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बंद किए गए स्कूल एक बार फिर खुलने की तैयारी में हैं. ऐसे में सावधानी के लिए स्कूलों में कई जरुरी नियमों का पालन करना जरुरी होगा. स्कूल आने पर छात्रों को अलग-अलग गेट से अंदर आने की व्यवस्था होगी. इसी के साथ स्कूल में जितने भी गेट हैं सभी को खोल दिया जायेगा, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सके.

जानकारी के मुताबिक अगर हम शहर के सेंट माइकल हाई स्कूल की बात करें तो यहां तीन गेट है.अब इसके दो गेट को खोल दिया जाएगा. वहीं नॉट्रेडम एकेडमी में भी दो गेट से प्रवेश मिलेगा. इसके साथ ही स्कूल में प्रवेश के दौरान छात्रों के हाथ के अलावा जूते-मोजे को भी सेनेटाइज किया जाएगा. आपको बता दें कि नौंवी से 12वीं तक के छात्रों को 21 सितंबर से स्कूल बुलाया गया है. इसको लेकर हर स्कूल ने अपनी तैयारी अलग-अलग करनी शुरू कर दिया है.

पटना पुलिस ने दुर्लभ प्रजाति की छिपकली के साथ तस्करों को दबोचा, कीमत करोड़ों में

गौरतलब है कि ज्यादातर स्कूलों ने अभिभावकों को पत्र लिखकर छात्रों के आने की वजह पूछी है. वहीं कई स्कूलों ने बारी-बारी से छात्रों को बुलाने पर विचार कर रहा है. हर दिन 20-20 छात्रों को बुलाया जाएगा और बीते पांच महीने में हुई ऑनलाइन पढ़ाई की समीक्षा होगी. इस दौरान छात्रों को पढ़ाई कितनी समझ में आयी बारे में भी पूछा जाएगा. अब छात्रों को बुला कर उनके डाउट को शिक्षक सॉल्व भी करेंगे.

बिहार के मुख्यमंत्री समेत चिराग पासवान ने दी प्रधानमंत्री को जन्मदिन की बधाई

इसके साथ ही स्कूल प्रशासन को भी कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना होगा. जैसे सफाई, सोशल डिस्टेंसिंग के सभी गाइड लाइन को फॉलो किया जाएगा. स्कूल में 50 फीसदी शिक्षक और नॉन टीचिंग स्टॉफ आयेंगे. कोरोना प्रोटोकॉल के हिसाब से सफाईकर्मी काम करेंगे। इसके लिए स्कूल द्वारा गाइडलाइन जारी किया गया है. दीवारों पर कोरोना से बचाव के निर्देश होंगे. स्कूल में ढक्कनदार डस्टबिन और कूड़ा फेंकने की उचित व्यवस्था हर जगह पर करनी होगी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें