बिहार में वैक्सीन के बाद सर्टिफिकेट नहीं, दूसरी डोज से पहले भरना होगा घोषणा पत्र

Smart News Team, Last updated: Mon, 7th Jun 2021, 9:37 AM IST
  • बिहार में कोरोना वैक्सीन लगने के बाद लोगों को सर्टिफिकेट नहीं दिया जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइंस में व्यक्ति को टीकाकरण केंद्र पर ही प्रमाणपत्र देने के लिए कहा गया है. साथ ही अब वैक्सीन की दूसरी डोज लेने वालों को एक घोषणा पत्र भी भरकर देना होगा तभी उन्हें टीका लगाया जाएगा.
कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज से पहले अब भरना होगा घोषणा पत्र.

पटना. कोरोना वैक्सीनेशन के बाद सेंटर्स पर लोगों को टीकाकरण सर्टिफिकेट ना देना समस्या का कारण बन सकता है. कई लोगों को पता ही नहीं है कि उन्हें किस कंपनी की कौन-सी वैक्सीन लगी है. वैक्सीन सर्टिफिकेट में आपकी डोज और वैक्सीन का नाम लिखा होता है लेकिन बिहार में लाखों लोगों को टीकाकरण के बाद प्रमाण पत्र ही नहीं मिला है. स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइंस के अनुसार वैक्सीन लगने के बाद व्यक्ति को सेंटर पर सर्टिफिकेट दिया जाना है. 

बिहार में अबतक करीब 8 लाख 43 हजार 687 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है. स्वास्थ्य समिति ने अब एक्शन लेते हुए ऐसे लोगों को सर्टिफिकेट जारी करने के निर्देश दिए हैं. साथ ही दूसरी डोज से पहले लोगों को एक घोषणा पत्र भी देना होगा.राज्य स्वास्थ्य समिति ने घोषणा पत्र का प्रारूप भी जारी कर दिया है. इस पत्र में कौन सी वैक्सीन की पहली डोज ली और दूसरी खुराक की तिथि के साथ व्यक्ति को हस्ताक्षर करना होगा या अंगूठे का निशान लगाना होगा. 

पोते की शादी से इंकार करने पर लड़की वालों ने की दादा की हत्या, आरोपी फरार

स्वास्थ्य समिति का कहना है कि तभी व्यक्ति को दूसरी डोज लगाई जाएगी. राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने सभी जिलों के जिलाधिकारी, सिविल सर्जन और सभी मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक, उपाधीक्षक, एम्स और आईजीआईएमएस पटना को दे दिया है. निर्देशों के अनुसार घोषणा पत्रों वैक्सीन सेंटर्स में रखा जाए. 

सुशील मोदी का लालू पर हमला, बोले- रघुवंश बाबू का अपमान कर दे रहे श्रद्धांजलि 

बिहार में जनवरी से टीकाकरण शुरू है. स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइंस के अनुसार एक व्यक्ति को एक ही कंपनी की दोनों डोज लगाई जानी है. पहली डोज ले चुके व्यक्ति को सर्टिफिकेट देने के लिए कहा गया है लेकिन अधिकतर केंद्रों पर ऐसा नहीं हो रहा है. लोगों को की एंट्री ऑनलाइन कर दी जा रही है और मोबाइल पर वैक्सीन का मैसेज आ जाता है. साथ ही लोगों को सर्टिफिकेट ऑनलाइन डाउनलोड करने के लिए कहा जा रहा है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें