बिहार: पंचायत चुनाव को हिंसा-मुक्त बनाने का लक्ष्य, पुलिस-प्रशासन ने की तैयारी

Smart News Team, Last updated: Sat, 13th Mar 2021, 5:34 PM IST
  • बिहार में हिंसा-मुक्त पंचायत चुनाव व होली पर कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव ने कई निर्देश दिए है. अपर मुख्य सचिव ने शुक्रवार को डीजीपी एसके सिंघल एवं प्रमंडलीय आयुक्त, रेंज आईजी-डीआईजी व सभी जिलों के डीएम-एसपी के साथ वीडियो कॉन्फेंसिंग करते हुए ये निर्देश दिए.
बिहार में पंचायत चुनाव व होली को हिंसा-मुक्त बनाने के लिए पुलिस-प्रशासन ने शुरू की तैयारी

पटना. बिहार में पंचायत चुनाव को हिंसा मुक्त व होली को शांतिपूर्ण बनाये रखने के लिए पुलिस-प्रशासन ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. पुलिस मुख्यालय के अनुसार शुक्रवार को गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद एवं डीजीपी एसके सिंघल ने इस संबंध में वी़डियो कॉन्फ्रेंसिंग की. जिसमें उनके साथ प्रमंडलीय आयुक्त, रेंज आईजी-डीआईजी और सभी जिलों के डीएम-एसपी मौजूद थे. इस कॉन्फ्रेंसिग में उन्होंने होली व पंचायत चुनाव समेत अपराध पर नियंत्रण, जेलों की व्यवस्था और मदिरा निषेध को लेकर कई दिशा-निर्देश दिए.

पंचायत चुनाव की व्यवस्था मजबूत बनाने के लिए अपर मुख्य सचिव ने अभी से अभियान चलाने को कहा है. उन्होंने चुनाव को हिंसा-मुक्त बनाये रखने के लिए असामाजिक तत्वों पर निरोधात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए है. इसके साथ ही क्राइम कंट्रोल एक्ट (सीसीए) के तहत प्रस्ताव समर्पित करने व उस पर कार्रवाई करने को कहा है. इसके साथ ही डीएम व एसडीओ को नियमित रूप से कोर्ट लगाने का निर्देश भी दिया है.

बिहार विधानसभा में जोरदार हंगामा, BJP और RJD विधायक भिड़े, कुर्सी पलटी

होली पर कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए अधिकारियों को बदमाशों के साथ सख्त रूप से पेश आने का निर्देश दिया गया है. इसके साथ ही होली के दिन क्षेत्र में तैनात सभी पुलिसकर्मियों को पूरी वर्दी में व पूरी तरह सजग रहने को कहा गया है. इसके अलावा लाइसेंसी हथियार दुकानों का नियमित रूप से सत्यापन करने व बैंक की सुरक्षा के लिए प्रबंधकों के साथ तालमेल बनाने को कहा गया है.

तेजस्वी का शराबबंदी को लेकर नीतीश सरकार पर हमला-लोकतंत्र के मंदिर में उसका मजाक उड़ रहा

अपर मुख्य सचिव ने शराब के धंधे पर रोक लगाने के लिए विशेष इकाई का गठन करने एवं जनता को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाने को कहा है. इसके अलावा जेलों की सुरक्षा व प्रतिबंधित सामान को कारागार में ले जाने से रोकने के लिए नियमित रूप से जेलों का निरीक्षण करने का निर्देश भी दिया है.

बिहार सरकार छात्रों को साइकिल के लिए देगी पैसे, 458 करोड़ रुपए किए गए जारी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें