बिहार पुलिस ने अवैध शराब छापेमारी में एक जवान किया गिरफ्तार, परिवार बोला- फंसाया

Smart News Team, Last updated: Fri, 9th Jul 2021, 10:39 AM IST
पटना में पुलिस की टीम ने अवैध शराब की छापेमारी के दौरान एक भारतीय जवान को गिरफ्तार किया है. कथित तौर पर यह जवान नशे में धुत था और वहीं जवान के घरवालों ने पुलिस पर उसे फंसाने का आरोप लगाया है.
बिहार पुलिस ने नशे में धुत एक जवान को किया गिरफ्तार

पटना. बिहार पुलिस ने अवैध शराब को लेकर छापेमारी की जिसमें पुलिस ने एक भारतीय जवान को गिरफ्तार किया है. हालांकि जवान के घरवालों ने इस बात को नकारते हुए पुलिस पर आरोप लगाया है. घरवालों का कहना है कि पुलिस से जवान को झूठे केस में फंसाया है और जब हम थाने गए तो पुलिस ने हमारे साथ भी दुर्व्यवहार किया.

इस पूरे केस को लेकर खुसरूपुर एसएचओ त्रिचंद्र भानु ने बताया कि हमें इलाके में शराब के अवैध व्यापार की खबर मिली थी. इसके बाद पुलिस के जवान सादे कपड़ों में छापेमारी करने गए थे. हमें वहां पर मौजूद एक सिपही जिसका नाम सुबोध कुमार था उसकी गतिविधियां संदिग्ध लग रहीं थी. इसके बाद हमने उसे पकड़ा जब हमने उसके शराब पीने की जांच की तो सांस लेने पर एल्कोमीटर शराब के उच्च स्तर पर था.

इसके साथ ही जवान सुबोध कुमार के परिवार वालों ने बताया कि सुबोध कुमार लद्दाख क्षेत्र में तैनात थे और हाल ही में छुट्टी पर घर आए थे. वह अपने घर के बाहर बैठे थे. इस दौरान पुलिस की टीम आई और उन्होंने उनसे पूछा कि वह वहां क्यों हैं और उनकी पिटाई कर दी. इसके आगे बताया कि हमने मौके पर हुई इस घटना का वीडियो भी बनाया है. सिविल ड्रेस में 4 पुलिसकर्मियों ने सुबोध के साथ मारपीट भी की.

लालू-राबड़ी के नाम पर तेज प्रताप का बिजनेस, LR ब्रांड की अगरबत्ती, शोरूम खुला

जवान के घरवालों ने बताया कि सुबोध को पुलिसकर्मियों ने शराब पीने के आरोप में जबरन फंसाया. जब हम थाने गए तो उन्होंने भी हमारे साथ दुर्व्यवहार किया और अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. हालांकि इन आरोपों को लेकर एसएचओ ने बताया कि घरवाले झूठ बोल रहे हैं. इसके आगे अधिकारी ने कहा- सेना के जवान से हमारी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है इतना ही नहीं पुलिस वालों को भी नहीं पता था कि वह सेना का जवान है.

पटना. बिहार पुलिस ने अवैध शराब को लेकर छापेमारी की जिसमें पुलिस ने एक भारतीय जवान को गिरफ्तार किया है. हालांकि जवान के घरवालों ने इस बात को नकारते हुए पुलिस पर आरोप लगाया है. घरवालों का कहना है कि पुलिस से जवान को झूठे केस में फंसाया है और जब हम थाने गए तो पुलिस ने हमारे साथ भी दुर्व्यवहार किया.

इस पूरे केस को लेकर खुसरूपुर एसएचओ त्रिचंद्र भानु ने बताया कि हमें इलाके में शराब के अवैध व्यापार की खबर मिली थी. इसके बाद पुलिस के जवान सादे कपड़ों में छापेमारी करने गए थे. हमें वहां पर मौजूद एक सिपही जिसका नाम सुबोध कुमार था उसकी गतिविधियां संदिग्ध लग रहीं थी. इसके बाद हमने उसे पकड़ा जब हमने उसके शराब पीने की जांच की तो सांस लेने पर एल्कोमीटर शराब के उच्च स्तर पर था.

इसके साथ ही जवान सुबोध कुमार के परिवार वालों ने बताया कि सुबोध कुमार लद्दाख क्षेत्र में तैनात थे और हाल ही में छुट्टी पर घर आए थे. वह अपने घर के बाहर बैठे थे. इस दौरान पुलिस की टीम आई और उन्होंने उनसे पूछा कि वह वहां क्यों हैं और उनकी पिटाई कर दी. इसके आगे बताया कि हमने मौके पर हुई इस घटना का वीडियो भी बनाया है. सिविल ड्रेस में 4 पुलिसकर्मियों ने सुबोध के साथ मारपीट भी की.

जवान के घरवालों ने बताया कि सुबोध को पुलिसकर्मियों ने शराब पीने के आरोप में जबरन फंसाया. जब हम थाने गए तो उन्होंने भी हमारे साथ दुर्व्यवहार किया और अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. हालांकि इन आरोपों को लेकर एसएचओ ने बताया कि घरवाले झूठ बोल रहे हैं. इसके आगे अधिकारी ने कहा- सेना के जवान से हमारी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है इतना ही नहीं पुलिस वालों को भी नहीं पता था कि वह सेना का जवान है.

|#+|

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें