बिहार पंचायत चुनाव में कड़ी रहेगी सुरक्षा, पुलिस गांव -गांव बाइक से करेगी पेट्रोलिंग

Ankul Kaushik, Last updated: Fri, 27th Aug 2021, 10:23 PM IST
  • बिहार में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर प्रशासन पूरी तरह से तैयार है. इस चुनाव को लेकर सुरक्षा व्यवस्था का भी खास ध्यान रखा जा रहा है. इसके लिए शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए बिहार पुलिस गांव-गांव जाकर बाइक से पेट्रोलिंग करेगी.
बिहार में चुनावों से पहले गांव-गांव जाकर पुलिस बाइक से करेगी पेट्रोलिंग, (फाइल फोटो)

पटना. बिहार में होने वाले ग्राम पंचायत और ग्राम कचहरी के चुनावों के लिए हाल ही में अधिसूचना जारी की गई है. इस अधिसूचना के अनुसार प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 11 चरणों में मतदान होगा. इस चुनाव को लेकर प्रदेश का प्रशासन काफी सतर्क है और पुलिस ने चुनाव में उत्पात मचाने वालों के लिए रणनीति तैयार कर ली है. बिहार पुलिस अपराधियों से निपटने के लिए प्रत्येक प्रखंड में 50-50 मोटरसाइकिल दस्ते का गठन करने जा रही है. इस टीम को पुलिस ने बिहार पंचायत चुनावों में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैयार किया है. अब इस चुनाव में कोई भी खलल नहीं डाल सके इसके लिए पुलिस के जवान लाठी और हथियार से लैस होकर गांव-गांव बाइक से जाकर पेट्रोलिंग करेंगे. इस पेट्रोलिंग में पुलिस गांवों में छिपे अपराधियों की धर-पकड़ करेगी.

इसके साथ ही थानेदार रैफ के जवानों के साथ इलाके में फ्लैग मार्च भी करेंगे. वहीं पुलिस के जवान मतदाताओं को निडर रहने का भरोसा भी दिलाएंगे और प्रदेश में शांतिपूर्ण माहौल में चुनाव कराने की कोशिश करेंगे. इस चुनाव की सुरक्षा व्यवस्था के लिए एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया बिहार में होने वाले पंचायत चुनाव की पूरी जिम्मेदारी पटना पुलिस, बीएमपी व होमगार्ड के जवानों पर रहेगी. इसके साथ ही एक अभियान चलाकर हत्या, 307, मारपीट व एससी-एसटी के गंभीर अपराधों के अभियुक्तों पर शिंकजा कसते हुए पकड़ा जाएगा.

बिहार में 11 चरणों में होगा पंचायत चुनाव, मतदान की तारीखों का ऐलान

इस चुनाव में प्रशासन की तरफ से सभी बूथों को संवेदनशील मानते हुए तैयारी की जा रही है. मतलब साफ है कि इस चुनाव को लेकर पुलिस भी काफी सतर्क है. क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि पंचायत चुनावों में वोटरों को डरा धमकाकर वोट खरीदे जाते हैं. मतदाता डर के माहौल में ऐसे उम्मीदवार को वोट दे आते हैं जिन्हें उन्हें देना नहीं है. हालांकि इस सब को रोकने के लिए पुलिस पूरी तरह से सतर्क है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें