बिहार में अब सीधे नहीं होगी गिरफ्तारी, इन मामलों में राहत, पुलिस को नई गाइडलाइन

Smart News Team, Last updated: Sat, 29th May 2021, 8:37 PM IST
  • डीजीपी संजीव कुमार सिंघल ने आदेश में कहा है कि सात साल से कम सजा वाले मामलों में पुलिस अब सीधे गिरफ्तारी नहीं करेगी. इसके अलावा साधारण जुर्म के मामलों में भी पुलिस अब सीधे गिरफ्तारी नहीं कर सकती.
डीजीपी संजीव कुमार सिंघल ने गिरफ्तारी को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है.

पटना- शनिवार को बिहार पुलिस ने गिरफ्तारी को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है. यह गाइडलाइन सात साल से कम सजा के मामले को लेकर की गई है. डीजीपी संजीव कुमार सिंघल ने आदेश में कहा है कि सात साल से कम सजा वाले मामलों में पुलिस अब सीधे गिरफ्तारी नहीं करेगी. इसके अलावा साधारण जुर्म के मामलों में भी पुलिस अब सीधे गिरफ्तारी नहीं कर सकती.

नई गाइडलाइन के मुताबिक, ऐसे मामलों में गिरफ्तारी करने या नहीं करने की परिस्थितियों के अनुसार कुछ प्रावधानों का पालन करना होगा. सीधे गिरफ्तारी के बजाय पुलिस अब सात साल से कम सजा वाले केस में पहले नोटिस दे सकती है. जमानत लेने की कार्रवाई आरोपी इसके बाद करेगा.

HAM अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने 2 जून को बुलाई बैठक, हो सकते हैं बड़े फैसले

इस गाइडलाइन से संबंधित पत्र डीजीपी ने सभी जिलों के पुलिस कप्तान, सभी जोन के डीआईजी और सभी क्षेत्र के आईजी को भेज दिया है. डीजीपी ने इस आदेश पत्र में कहा है कि गिरफ्तारी के समय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 41बी, 41सी, 41डी, 45, 46, 50, 60 और 60ए का सम्यक अनुपालन बेहद जरूरी है. सभी पुलिस अधिकारी इन प्रावधानों का पालन सुनिश्चित करें.

सुप्रीम कोर्ट का आदेश, सात साल से कम सजा मामले में बिना कारण न हो गिरफ्तारी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें