खुलासा! पटना में गर्लफ्रेंड के महंगे शौक पूरे करने के लिए युवा बने मोबाइल झपटमार

Smart News Team, Last updated: 22/02/2021 02:13 PM IST
  • पटना अपनी गर्लफ्रेंड के महंगे शौक पूरे करने और उनको गिफ्ट देने के लिये एक मोबाइल झपटमार गैंग द्वारा मोबाइल छीनकर भागने की घटनाओं में दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है.ज्यादातर झपटमारों की उम्र 18 से 25 वर्ष के बीच की है.
खुलासा! पटना में गर्लफ्रेंड के महंगे शौक पूरे करने के लिए युवा बने मोबाइल झपटमार

पटना। बिहार की राजधानी पटना में अपनी गर्लफ्रेंड के महंगे शौक पूरे करने और उनको गिफ्ट देने के लिये एक मोबाइल झपटमार गैंग शहर में लगातार घटनाओं को अंजाम दे रहा है. पटना में मोबाइल छीनकर भागने की घटनाओं में दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है. पुलिस ने अबतक कई झपटमारों को रंगेहाथ गिरफ्तार किया है.पुलिस द्वारा की गई गिरफ्तारियों के बाद मोबाइल झपट्टा मार गैंग के अपराधियों ने कई चौंकाने वाले खुलासे किये हैं.

गिरफ्तार हुए ज्यादातर झपटमारों की उम्र 18 से 25 वर्ष के बीच की है. अपराधियों ने पुलिस को बताया कि ब्रांडेड कंपनी के कपड़े-जूते, घड़ी पहनने के लिये वे ऐसी घटनाओं को अंजाम देते हैं. जबकि कई आरोपियों ने खुलासा करते हुए बताया कि अपनी गर्लफ्रेंड को तोहफा देने के लिये वो मोबाइल की झपटमारी कर उसे बेचते थे. हर रोज एक नया गैंग सामने आने के कारण पटना पुलिस की सिरदर्दी और भी बढ़ गई है.

पटना: होस्टल में हंगामा, कई राउंड फायरिंग, एक छात्र को लगी गोली

अपराधियों ने पुलिस को बताया कि लूटे गये मोबाइल को दो से तीन हजार रुपये में बेच दिया जाता है. मोबाइल खरीदने वाला शख्स उसके आईएमआई नंबर को बदल देता हैं जिससे उन्हें पकड़ने में पुलिस को थोड़ी मुश्किल होती है. लूटे गये मोबाइल को सेकेंड हैंड के नाम पर खरीदने वाले दुकानदार उसी मोबाइल को आठ से दस हजार रुपये में बेच देते हैं.

पटना: नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप, दो सगे भाई समेत तीन के खिलाफ FIR

पुलिस के अनुसार यह अपराधी ज्यादातर शाम और दोपहर के समय घात लगाते हैं. पटना में अधिकतर घटनाएं इसी समय पर होती हैं. मोबाइल झपटने के लिये एक बाइक पर दो अपराधी सवार होकर आते है जिनमे से एक बाइक चलाता है और दूसरा तेज़ी से मोबाइल झपट लेता है.पटना के विभिन्न इलाकों जैसे गर्दनीबाग, राजाबाजार, वेटनरी कॉलेज, पुरानी म्युजियम, कदमकुआं लोहानीपुर, कंकड़बाग में चेन झपटने की घटनाएं ज्यादा होती हैं

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें