बिहार पुलिस जवान और अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण केंद्र तय, DGP ने लगाई मुहर

Smart News Team, Last updated: Tue, 2nd Feb 2021, 1:31 PM IST
मानव संसाधन विकास एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा बिहार पुलिस के जवानों और अधिकारियों के लिए जगह कह कर दी गई है. डीजीपी एसके सिंह ने इस पर हस्ताक्षर भी कर दिए हैं. सभी प्रकार की ट्रेनिंग तय किए गए निर्धारित सेंटरों पर ही होगी.
बिहार पुलिस जवानों और अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण केंद्र तय कर दिए गए हैं.

पटना. बिहार पुलिस में जवानों से लेकर अधिकारियों तक के प्रशिक्षण के लिए मानव संसाधन विकास एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा स्थान तय कर दिए गए हैं. डीजीपी एसके सिंघल ने इस पर अपनी मुहर भी लगा दी है. इसमें पुलिस कर्मियों की बेसिक ट्रेनिंग के साथ प्रोन्नति वाले कोर्स और सेवाकालीन प्रशिक्षण के लिए ट्रेनिंग सेंटर का चयन किया गया है. अब सभी प्रकार की ट्रेनिंग तय किए गए निर्धारित सेंटरों पर ही होगी.

आपको बता दें कि सिपाहियों के बेसिक प्रशिक्षण के लिए 9 सेंटर तय किए गए हैं. रीजनल ट्रेनिंग सेंटरों के अलावा कांस्टेबल ट्रेनिंग स्कूल सिमुलतला का चयन भी इसके लिए किया गया है. अभी यह बीएमपी-11 जमुई में रिजनल ट्रेनिंग सेंटर के तौर पर काम कर रहा है. इसके अलावा सिपाहियों का बेसिक प्रशिक्षण डेहरी ऑन सोन, जमालपुर, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, सुपौल, डुमरांव और कटिहार स्थित बीएमपी बटालियन के रिजनल ट्रेनिंग सेंटर में होगा.

बिहार को मिलेंगे 4 लाख 78 हजार 751 करोड़, तेजी से होगा विकास- सुशील मोदी

इसके अलावा नाथनगर के सिपाही प्रशिक्षण स्कूल और डुमरांव स्थित सैन्य पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र में प्रोन्नति वाले कोर्स कराए जाएंगे. इसमें प्रमुख रूप से सिपाही से एएसआई बनने के लिए आवश्यक पीटीसी और सिपाही से हवलदार में प्रोन्नति के लिए आवश्यक एसएलसी कोर्स शामिल होगा. इसके अतिरिक्त दूसरे कोर्स भी यहां कराएं जाएंगे. साथ ही चालक सिपाही और वे सिपाही जिनका प्रशिक्षण अधूरा रह गया है या वह अपने बैच के साथ पास नहीं कर पाए हैं उन्हें डुमरांव स्थित एमपीटीसी में प्रशिक्षित किया जाएगा.

इसके अलावा आपको बता दें कि पुलिस सब-इंस्पेक्टर और उनसे ऊपर के पुलिस अधिकारियों को सेवाकालीन प्रशिक्षण पुलिस अकादमी, राजगीर में दिया जाएगा. गौरतलब है कि बिहार पुलिस में पिछले साल ही प्रोन्नति के लिए सेवाकालीन प्रशिक्षण अनिवार्य कर दिया गया है. प्रशिक्षण पास करने पर ही उन्हें प्रोन्नति और दूसरे लाभ दिए जाएंगे. जल्द ही इसे भी प्रारंभ किया जाएगा.

बिहार BJP के नेताओं ने जेपी नड्डा से की मुलाकात, मंत्रिमंडल विस्तार पर हुआ मंथन

डीजी ट्रेनिंग आलोक राज ने बताया कि पुलिस में बुनियादी प्रशिक्षण के अलावा विभिन्न रैंक में कई तरह की ट्रेनिंग होती है. कौन-सी ट्रेनिंग कहां होगी, यह निर्धारित किया गया है. भविष्य में होने वाली ट्रेनिंग भी इसी निर्धारित कार्यक्रम के तहत होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें