रूपेश सिंह हत्याकांड: एयरपोर्ट से घर तक पीछे लगे थे शूटर, पुलिस ने खंगाले CCTV

Smart News Team, Last updated: Thu, 14th Jan 2021, 7:39 AM IST
  • इंडिगो स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह के हत्याकांड की जांच में पुलिस और एसटीएफ की टीम ने तेजी ला दी है. वहीं पुलिस अभी तक करीब इस मामले में 100 सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाल चुकी है और तीन संदिग्धों को भी पकड़ा गया है.
एयरपोर्ट से घर तक पीछे लगे थे शूटर, पुलिस ने खंगाले 100 CCTV

पटना. इंडिगो के स्टेशन मास्टर रूपेश सिंह की हत्या की जांच के लिए एसटीएफ टीम का गठन किया गया है. साथ ही पटना पुलिस भी इस हत्याकांड की जांच में जुटी हुई है. वहीं पुलिस ने जांच के दौरान तीन संदिग्धों को बुधवार को हिरासत में लिया गया है. वहीं एसटीएफ की टीम ने हत्या की जांच को तेज करते हुए कई जगहों पर छापेमारी भी की है. साथ ही पटना पुलिस और एसटीएस की टीमों ने अपार्टमेंट से लेकर एयरपोर्ट तक के सभी सीसीटीवी फुटेज की भी जांच करने में जुटी हुई है. वहीं अभी तक करीब 100 सीसीटीवी खंगाल भी चुकी है.

पटना पुलिस और एसटीएफ की टीमों इस कई जगहों पर दबिश दे रही है. वहीं बिहटा सहित अन्य इलाकों में हत्या की जांच के लिए छापेमारी किया गया है. पुलिस ने अपार्टमेंट के गार्ड से भी पूछताछ की है और उसका नम्बर भी अपने साथ ले गई है. वहीं सूत्रों के अनुसार पता चला है कि जांच में ठेकेदारी को लेकर पूरा विवाद पैदा हुआ है. दरअसल रूपेश के भाई सिंचाई विभाग में ठेकेदारी करते है. वहीं पुलिस इसके अलावा भी अन्य पहलुओं पर अपनी जांच जारी रखी है.

इंडिगो मैनेजर हत्याकांड: CM नीतीश के निर्देश- जल्द अरेस्ट हों रूपेश के हत्यारे

पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में पाया है कि हमलावर एयरपोर्ट से रूपेश का पीछा कर रहे थे, लेकिन उन्हें मौका पूरे रास्ते नहीं मिला. जब रूपेश अपने अपार्टमेंट पहुचे तो वहां पर हमलावरों ने गोलियां दागनी शुरू कर दी. साथ ही पुलिस को सीसीटीवी फुटेज से ये भी पता चला कि हमलावरों ने रूपेश की हत्या करने से पहले उसके घर की रेकी भी किया था. जिसमे कारण उन्हें पता था कि रूपेश की हत्या करने के बाद किस तरफ से भागना है. वहीं रेंज आईजी संजय सिंह का कहना है कि इस घटना को काफी गम्भीरता से लिया जा रहा है. वहीं एसआईटी की टीम हत्याकांड होने की हर पहलू की जांच कर रही है.

तेजस्वी का PM मोदी से सवाल- क्या इंडिगो मैनेजर रुपेश का परिवार अब छठ मना पाएगा?

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें