बिहार में 1 मार्च से खुलने जा रहे प्राइमरी स्कूल, नीतीश सरकार की गाइडलाइन जारी

Smart News Team, Last updated: Fri, 26th Feb 2021, 12:05 AM IST
  • प्रशासन 1 मार्च से पहली और 5वीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खोले जा रहें है. संक्रमण से बचाव को लेकर तमाम एहतियातों संग राज्य के स्कूलों में पहली से 5वी कक्षा की पढ़ाई एक मार्च से शुरू की जायेगी. हर दिन 50 फीसदी यानी आधे बच्चे ही स्कूल आयेंगे. जबकि शिक्षक सभी आएंगे.
बिहार में 1 मार्च से खुलने जा रहे प्राइमरी स्कूल, नीतीश सरकार की गाइडलाइन जारी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: कोरोना संक्रमण के चलते एक साल तक बंद रहें स्कूलों को खोलने के लिए प्रशासन जुगत में लगा है. इसी क्रम में प्रशासन 1 मार्च से पहली और 5वीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खोले जा रहें है. संक्रमण से बचाव को लेकर तमाम एहतियातों संग राज्य के स्कूलों में पहली से 5वी कक्षा की पढ़ाई एक मार्च से शुरू की जायेगी. हर दिन 50 फीसदी यानी आधे बच्चे ही स्कूल आयेंगे. जबकि शिक्षक सभी आएंगे.

इससे संबंधित आदेश शिक्षा विभाग ने गुरुवार को जारी कर दिया है. और स्कूलों में कोरोना संक्रमण से संबंधित गाइडलाइन भी जारी किया गया है. विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश जारी किया हैं. निर्देश के अनुपालन में जिला शिक्षा पदाधिकारी और सिविल सर्जन डीएम का सहयोग करेंगे. 

टेस्ट ड्राइव देने के लिए पहले ऑनलाइन करें स्लॉट बुक, तभी मिलेगा लाइसेंस

विद्यालयों में किसी भी प्रकार के हैल्थ इमरजेंसी से निपटने के लिए उत्तरदायी टीम गठित करने का निर्देश दिया गया है. ये टीम साफ सफाई, सामाजिक दूरी का पालन आदि के लिए उत्तरदायी होगी. टीम में विद्यार्थी, शिक्षक, विद्यालय शिक्षा समिति के सदस्य को उत्तरदायित्व दिया जाएगा. निर्देश के मुताबिक छठी से 12वी कक्षा के लिये लागू गाइडलाइन के तहत ही पहली से 5वीं के बच्चों की भी पढ़ाई होगी. 

बैंक्वेट हॉल में चल रही थी शराब पार्टी, मौके पर पहुंची पुलिस, 5 गिरफ्तार

72 हजार सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले पहली से 5वीं के बच्चों को भी दो-दो मास्क जीविका के माध्यम से मिलेंगे. कोरोना संक्रमण न फैले इससे बचाव के लिए आधे विद्यार्थियों को एक दिन तो शेष बचे विद्यार्थियों को अगले दिन बुलाया जायेगा, और अगले आदेश तक 50 फीसदी छमता में बच्चों को बुलाया जायेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें