पार्टी ऑफिस जमीन मामले में नीतीश के बयान से भड़की राजद, जगदानंद का JDU पर हमला

Nawab Ali, Last updated: Sat, 4th Sep 2021, 6:03 PM IST
  • बिहार में आरजेडी कार्यालय की जमीन को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. पार्टी ऑफिस जमीन विवाद को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की टिप्पणी जमीन आसमान से नहीं आता पर बिहार आरजेडी चीफ जगदानंद सिंह ने कहा कि जमीन नालंदा से भी नहीं आता. जगदानंद सिंह ने कार्यालय की जमीन को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर गंभीर आरोप लगाये हैं.
बिहार में कार्यालय जमीन विवाद पर आरजेडी ने नीतीश कुमार सरकार पर लगाये गंभीर आरोप. (फाइल फोटो)

पटना. बिहार में पार्टी कार्यालय की जमीनों को लेकर सियासत गरमाई हुई है. राष्ट्रिय जनता दल द्वारा कार्यालय के लिए सरकार से जमीन मांगने को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. आरजेडी द्वारा जमीन मांगने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने टिप्पणी करते हुए कहा है कि जो पसंद किया है वही न मिला है. आसमान से जमीनवा लाएं क्या? मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की इस टिप्पणी पर आरजेडी तिलमिला उठी है. बिहार आरजेडी अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा है कि जमीन नालंदा से भी नहीं आता. हमें बताया गया है कि आरजेडी कार्यालय के बराबर की जमीन उच्च न्यायलय को आवंटित की गई है. 

बिहार राजद चीफ जगदानंद सिंह ने पार्टी ऑफिस जमीन मामले पर सरकार के जवाब पर जेडीयू पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि हमारी पार्टी ने कभी भी जमीनों पर अतिक्रमण नहीं किया है लेकिन जेडीयू ने विधायक फ्लैट के रास्ते पर अतिक्रमण करते हुए जमीन को घेर लिया है. हमारी सरकार ने जो भी दल अस्तित्व में थे उन्हें जमीनें दी है. हमारी सरकार में ही भाजपा को भी जमीन दी गई. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जामीन आसमान से नहीं आता वाले बयान पर जगदानंद सिंह ने कहा कि जमीन नालंदा से भी नहीं आता. हम लोगों के यहां से भी नहीं आता. जमीन की व्यवस्था यहीं से होती है. जमीन ट्रांसफरेबल है. एक पुल से दूसरे पुल में ट्रांसफर होता है.

CM नीतीश ने ASI से मांगी खुदाई की अनुमति, 2 हजार साल पुराने इतिहास को लाएंगे बाहर

जगदानंद सिंह ने जेडीयू पर आरोप लगाते हुए कहा है कि 2 फ्लैट से बढ़ते हुए नीतीश जी आपने 66 हजार वर्ग फीट जमीन कब्जे में ले लिया. आरजेडी के मामले में ही अन्याय क्यों. आदमी जब पाप करता है झूठ बोलता है तो चेहरे पर तनाव दिखता है. मैं फिर अपील करता हूं जमीन को लेकर पुल का बहाना नहीं चलेगा. पूर्व सीएम के रूप में भी आपके नाम पर भवन और सीएम के रूप में भी भवन रखा है. आपको पता है कि आपको पूर्व होकर जाना है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें