लालू यादव को जज साहब ने होटवार जेल भेजा,जेलर साहब तय करेंगे रिम्स जाएंगे या नहीं

Ruchi Sharma, Last updated: Tue, 15th Feb 2022, 3:19 PM IST
  • बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव को हिरासत में ले लिया गया है. उन्‍हें 21 फरवरी को सजा सुनाई जाएगी. अब जेल प्रशासन देखेगा कि लालू को जेल में या रिम्स में जहां बेहतर इलाज संभव होगा जेल प्रशासन वहां भेजेगा.
कोर्ट से जेल जाते लालू यादव

रांची. चारा घोटाला मामले में लालू यादव को सीबीआई की विशेष अदालत ने दोषी करार दिया है. लालू प्रसाद ने दोषी करार होते ही कोर्ट में याचिका दायर की है जिसमें जेल भेजने के बदले रिम्स में भर्ती करने का आग्रह किया था. आग्रह के बाद सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू प्रसाद, डॉ. आरके राणा एवं डॉ. केएम प्रसाद के आवेदन पर सुनवाई करते हुए जेल प्रशासन पर छोड़ दिया है. अब जेल प्रशासन देखेगा कि लालू को जेल में या रिम्स में जहां बेहतर इलाज संभव होगा जेल प्रशासन वहां भेजेगा.

लालू यादव अभी से ज्यूडिशियल कस्टडी में है और जेल प्रशासन तय करेगी कि उन्हें होटवार जेल कब ले कर जाना है. क्योंकि दोषी करार दिए जाने के बाद लालू के वकीलों ने हेल्थ ग्राउंड पर अस्पताल भेजने की अर्जी डाली है. उन्‍हें 21 फरवरी को सजा सुनाई जाएगी. सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा दोषी करार दिए जाने के तुरंत बाद लालू यादव को हिरासत में ले लिया गया था. डॉक्‍टरों की रिपोर्ट के बाद उन्‍हें रिम्‍स भेजा जा सकता है.

21 फरवरी को सुनाई जाएगी सजा

लालू यादव के वकील ने अदालत से लालू यादव की उम्र और खराब तबीयत को लेकर गुहार लगाई थी. अधिवक्‍ता प्रभात कुमान ने कोर्ट में अर्जी देकर कहा था कि लालू प्रसाद यादव की तबीयत ठीक नहीं इसलिए जेल प्राधिकरण को निर्देश दिया जाए कि उन्‍हें रिम्‍स में शिफ्ट किया जाए. फिलहाल लालू यादव को हिरासत में ले लिया गया है. उन्हें 21 फरवरी को सजा सुनाई जाएगी.

चारा घोटाला: लालू यादव की सजा का ऐलान 21 फरवरी को, रिम्स अस्पताल जाने की दी अर्जी

575 लोगों करवाई गई थी गवाही

बता दें कि 26 साल तक चले इस मुकदमे की सुनवाई के दौरान सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में अभियोजन की ओर से कुल 575 लोगों की गवाही कराई गई, जबकि बचाव पक्ष की तरफ से 25 गवाह पेश किए गए. इस मामले की सुनवाई के दौरान सीबीआई ने कुल 15 ट्रंक दस्तावेज अदालत में पेश किए थे.

इन बीमारियों से ग्रसित है लालू यादव

जानाकरी के मुताबिक, लालू यादव डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, हृदय रोग, किडनी रोग, किडनी में स्टोन, तनाव, थैलेसीमिया, प्रोस्टेट का बढ़ना, यूरिक एसिड का बढ़ना, ब्रेन से सम्बंधित बीमारी, कमज़ोर इम्यूनिटी, दाहिने कंधे की हड्डी में दिक्कत, पैर की हड्डी की समस्या, आंख में दिक्कत है. उनकी किडनी लास्ट स्टेज में है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें