भू- अर्जन अधिकारी राजेश गुप्ता की बढ़ी मुश्किलें, छापेमारी में मिले 1.19 करोड़ के जेवरात

Haimendra Singh, Last updated: Sat, 11th Dec 2021, 9:51 AM IST
  • शुक्रवार को निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने भू- अर्जन अधिकारी राजेश गुप्ता के सासाराम स्थित एक्सिस बैंक के लॉकर से 7.91 लाख रुपए नगदी और 10 लाख रुपए से अधिक के जेवरात बरामद हुए है. इसके बाद राजेश गुप्ता के विभिन्न ठिकानों से 1.19 करोड़ रुपए का सोना-चांदी बरामद हो चुका है.
भू- अर्जन अधिकारी राजेश गुप्ता के ठिकानों से छापेमारी में केस और करोड़ के जेवरात.( सांकेतिक फोटो )

पटना. अवैध संपत्ति के मामले में रोहतास जिले के भू-अर्जन पदाधिकारी राजेश कुमार गुप्ता की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं. सासाराम के एक्सिस बैंक(Axis Bank) के लॉकर से शुक्रवार को 7.91 लाख रुपए नगदी मिली है, तो वहीं 10 लाख रुपए से अधिक के जेवरात भी बरामद हुए है. मिली जानकारी के अनुसार, यह लॉकर भी उनकी पत्नी अनीता गुप्ता का बताया जा रहा है. निगरानी अन्वेषण ब्यूरो को राजेश गुप्ता के अलग-अलग ठिकानों से 1.19 करोड़ रुपए के जेवरात और करीब 29.63 लाख रुपए कैश के रुप में बरामद हुए है. 

निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने राजेश गुप्ता पर 25 नवम्बर को आय से अधिक संपत्ति के मामले में केस दर्ज किया गया था. जिसके बाद 27 नवंबर को उनके कई ठिकानों पर छापेमारी की गई, जिसमें जांच टीम की उनकी करोड़ों की चल-अलच संपत्ति का खुलासा हुआ. छापेमारी में टीम को 21.72 लाख नगद, 61.67 लाख के जेवर और बड़ी संख्या में जमीन-जायदाद के कागजात मिले. अबतक आधा दर्जन फ्लैट, पूर्णिया में चार बीघा जमीन, रांची में 55 हजार वर्गफीट जमीन, विभिन्न बैंकों में 25 पासबुक और 39 जमीन की डीड की बरामदगी हो चुकी है. साथ ही जांच टीम ने आनंदपुरी व नागेश्वर कॉलोनी के फ्लैट और फारबिसगंज स्थित पैतृक घर की तलाशी ली गई.

50 करोड़ तक जा सकती है संपत्ति

निगरानी अन्वेषण ब्यूरो का कहना है कि राजेश गुप्ता के संपत्ति का आकलन लगातार चल रहा है. जिस तरीके से छापेमारी केश, जेवरात और फ्लैट के अलावा पूर्णिया, फारबिसगंज, जोगबनी, किशनगंज और रांची में खरीदे के कागजात मिल रहे है उससे उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि राजेश गुप्ता की संपत्ति 50 करोड़ के आसपास पहुंच सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें