बिहार: बोर्ड एग्जाम में बैठने वाले स्टूडेंट्स को 26 जनवरी से पहले लग जाएगी कोरोना वैक्सीन

Smart News Team, Last updated: Sun, 16th Jan 2022, 4:08 PM IST
  • बिहार स्वास्थ्य विभाग ने कोविड के बढ़ते मामलों के बीच 26 जनवरी से पहले बोर्ड परीक्षा में बैठने वाले सभी पात्र स्टूडेंट्स को कोरोना वैक्सीन लगाने का फैसला लिया है. इसके लिए हर जिला और ब्लॉक स्तर पर टास्क फोर्स का गठन किया जा रहा है.
बिहार में 26 जनवरी से पहले बोर्ड छात्रों को वैक्सीन लगाने के निर्देश (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में 26 जनवरी से पहले बोर्ड परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स को कोरोना वैक्सीन की डोज दे दी जाएगी. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच नजदीक आती बोर्ड परीक्षाओं को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर आ गया है. विभाग ने सभी जिलों के डीएम और सिविल सर्जनों को पत्र लिखकर टास्क फोर्स गठित करने के लिए कहा है. इसके जरिए 15 से 18 साल की आयुवर्ग के स्टूडेंट्स जो इस साल बोर्ड एग्जाम देंगे, उनका प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण करने के निर्देश दिए गए हैं.

स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि 15-18 वर्ष की आयु के किशोरों के टीकाकरण के लिए राज्यव्यापी अभियान पहले से ही चल रहा है. आने वाले महीनों में बीएसईबी और अन्य शिक्षा बोर्ड के एग्जाम में बड़ी संख्या में परीक्षार्थी भाग लेंगे. इसलिए विभाग ने 26 जनवरी से पहले पात्र आयु वर्ग में आने वाले सभी छात्रों का टीकाकरण करने का लक्ष्य निर्धारित किया है.

बिहार: नीतीश सरकार का फैसला, छठे चरण के तुरंत बाद शुरू होगी सातवें चरण की शिक्षक भर्ती

अमृत ने कहा कि विभाग ने सभी डीएम को लक्ष्य प्राप्त करने के लिए जिला-स्तरीय और ब्लॉक-स्तरीय टास्क फोर्स का गठन करने के लिए कहा है. विशेष अभियान के दौरान 100 फीसदी टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करने वाले स्कूलों को गणतंत्र दिवस के अवसर पर सम्मानित किया जाएगा.

सूत्रों के मुताबिक बिहार में विभिन्न शिक्षा बोर्डों द्वारा इस साल आयोजित होने वाली इंटर (12वीं) और मैट्रिक (10वीं) की परीक्षा के लिए लगभग 32 लाख छात्र-छात्राओं ने पंजीकरण कराया है. बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड (BSEB) 12वीं की परीक्षा 1 से 14 फरवरी और 10वीं की परीक्षा 17 से 24 फरवरी के बीच आयोजित होगी.

बिहार: हर जिले में होगा एक- एक पर्यटन केंद्र, फ्री वाई-फाई, फोन व इंटरकॉम की रहेगी सुविधा

बीएसईबी से इस साल बोर्ड परीक्षा देने के लिए 29 लाख से अधिक स्डूटेंट्स ने पंजीकरण कराया है. लगभग 2 लाख छात्रों के पटना रीजन (बिहार और झारखंड को मिलाकर) से सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में शामिल होने की संभावना है. जबकि, लगभग 18 हजार स्टूडेंट्स काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षा में शामिल होंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें