बिहार में भी TET की वैधता आजीवन, इन कैंडिडेट्स को मिलेगा फायदा

Smart News Team, Last updated: 11/06/2021 10:28 PM IST
  • बिहार में टीईटी सर्टिफिकेट की वैधता आजीवन कर दी गई है. बिहार में 2012 से ये नियम लागू होगा. इस बारे में शिक्षा विभाग ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. अब तक बिहार बिहार में टीईटी प्रमाण पत्र की वैधता सिर्फ 7 साल थी.
बिहार मे टीईटी सर्टिफिकेट की वैधता जीवन भर कर दी गई है. प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. केन्द्र सरकार के फैसले के बाद बिहार में भी टीईटी सर्टिफिकेट की वैधता आजीवन कर दी गई है. इसको लेकर राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) के निर्देश पर शिक्षा विभाग ने 11 जून शुक्रवार को नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. बिहार में टीईटी की आजीवन वैधता 2012 से लागू की गई है. जिससे 2012 में टीईटी पास करने वाले अभ्यर्थी अब आगे की प्रक्रिया में भाग ले सकेंगे.

बिहार के शिक्षा विभाग के उप सचिव अरशद फिरोज की ओर से जारी हुए इस आदेश में कहा गया है एनसीटीई के 9 जून को जारी पत्र में शिक्षक पात्रता परीक्षा टीईटी सर्टिफिकेट की वैधता 11 फरवरी 2012 से लाइफटाइम करते हुए राज्य सरकारों से टीईटी प्रमाण पत्र की वैधता को पुर्नमान्य या फिर से जारी करने को लिए कहा है.

अदरक, हल्दी और अनारदाना से बनी दवा देगी कोरोना को मात, ICMR से मिलेगी मंजूरी

शिक्षा विभाग के आदेश के अनुसार, 2012 से टीईटी पास अभ्यथिर्यों के सर्टिफिकेट की वैधता ताउम्र के लिए कर दी गई है. आने वाले समय में होने वाली टीईटी परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों के लिए भी ये नियम लागू होगा. इससे पहले बिहार में टीईटी की वैधता सिर्फ सात साल थी. उसके बाद दोबारा परीक्षा में बैठना होता था. 

बिहार सरकार के इस फैसले से उन लोगों को फायदा मिलेगा जिनके टीईटी सर्टिफिकेट की वैधता खत्म हो गई थी. 2012 के बाद वाले सभी सफल अभ्यर्थियों के मन में नौकरी पाने की उम्मीद जागेगी. इससे पहले केन्द्र सरकार ने टीईटी की वैधता आजीवन करने का फैसला लिया था. जिसके बाद बिहार सरकार ने भी टीईटी को 2012 से आजीवन करने का निर्णय लिया है.

लालू यादव जन्मदिन: लोगों के लालू, लालू के लोग: एक निराला संबंध- जयंत जिज्ञासु

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें