बिहार में NHAI के बैंक अकाउंट से 28 करोड़ रुपए गायब, जानें पूरा मामला

Smart News Team, Last updated: Sun, 10th Jan 2021, 10:52 AM IST
  • पटना में ठगों ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के बैंक खाते से 28 करोड़ रुपये आरटीजीएस के जरिए निकाल लिए. पुलिस ने बताया कि 28 करोड़ रुपये एक प्राइवेट कंपनी और अन्य लोगों के बैंक खाते में ट्रांसफर किए गए हैं.
सेना के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार.

पटना. बिहार की राजधानी पटना में ठगों ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के बैंक खाते से 28 करोड़ रुपये निकाल लिए हैं. दो जनवरी को कोटक महिंद्रा बैंक के गांधी मैदान स्थित ब्रांच से एनएचएआई के बैंक खाते से आरटीजीएस के जरिए 11 करोड़ 73 लाख निकालने की कोशिश की गई. इसके बाद जांच की गई कि तो 28 करोड़ रुपये की हेराफेरी का खुलासा हुआ. मिली जानकारी के अनुसार ये 28 करोड़ रुपये एक प्राइवेट कंपनी और अन्य लोगों के बैंक खाते में ट्रांसफर किए गए हैं.

पुलिस ने शुक्रवार को मामले में पूछताछ करने के लिए बैंक के ब्रांच मैनेजर सुमित सिंह समेत तीन बैंक कर्मियों को हिरासत में लिया. शनिवार को सुमित की तबीयत खराब हो गई, जिसके चलते उसे पुलिस ने एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया है. पुलिस बैंक के दो कर्मियों से पूछताछ कर रही है.

पटना नगर निगम की बैठक, सभी पार्किंग को PPP मोड पर चलाने का लिया फैसला

पुलिस ने बताया कि ठगों ने बैंक खाते से आरटीजीएस के जरिए दूसरे बैंकों के खातों में दस करोड़ से अधिक रुपये ट्रांसफर किए हैं. जिन बैंकों के खातों में एनएचएआई की राशि ट्रांसफर हुई हैं, उन बैंक खातों को फ्रीज कर दिया गया है. जालसाज उन बैंक खातों से रुपए नहीं निकाल सकते हैं. 

रिश्ते शर्मसार! शराब के नशे में बेटे ने अपनी मां के साथ किया गलत काम और मारपीट 

पुलिस ने जानकारी दी कि ठगों ने एनएचएआई के फर्जी लेटर का इस्तेमाल कर बैंक खाते से 28 करोड़ रुपये निकाले. आरटीजीएस के जरिए रुपये ट्रांसफर करवाने के दौरान ठग बैंक कर्मियों को एनएचएआई का फर्जी लेटर देते थे. इस लेटर में पैसे ट्रांसफर करने की बात लिखी होती थी. पुलिस को शक है कि बैंक कर्मियों की मिलीभगत से ही जालसाजों ने इतनी बड़ी रकम आरटीजीएस के जरिए खाते में ट्रांसफर की है.

पटना: शैक्षिक प्रमाण पत्र नहीं देने वाले 53 हजार शिक्षकों के नाम होंगे सार्वजनिक

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें