बिना बीमा वाली गाड़ी से एक्सीडेंट होने पर की जाएगी वाहन की नीलामी

Shubham Bajpai, Last updated: Mon, 11th Oct 2021, 7:57 AM IST
  • बिहार में परिवहन विभाग ने वाहन स्वामियों को बड़ा झटका दिया है. अब बिना बीमा की किसी गाड़ी से कोई दुर्घटना हो जाती है तो सरकार उस गाड़ी को नीलाम कर देगी. इस संबंध में जारी आदेश तत्काल प्रभाव से लागू कर दिए गए हैं.
बिना बीमा वाली गाड़ी से एक्सीडेंट होने पर की जाएगी वाहन की नीलामी

पटना. प्रदेश में कई गाड़ी बिना बीमा करवाए बेरोकटोक अपनी गाड़ी सड़क पर दौड़ा रहे हैं. अब इन वाहन स्वामियों को बिहार सरकार के परिवहन विभाग ने बड़ा झटका देने का फैसला लेते हुए गाड़ी के बीमा को लेकर नए नियम लागू किए हैं. जिसके अनुसार, यदि अब किसी भी बिना बीमा वाली गाड़ी से कोई एक्सीडेंट होता है तो सरकार उसकी गाड़ी को नीलाम कर देगी. विशेषकर उन मामलों में यह नियम लागू होगा जिसमें वाहन स्वामी दुर्घटना में मारे गए व्यक्ति को 5 लाख और घायल को 50 हजार रुपये मुआवजा देने में आनकानी करेगा.

गाड़ी का बीमा ही नहीं थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी जरूरी

परिवहन विभाग के अधिकारियों के अनुसार, गाड़ी मालिकों को सिर्फ बीमा करवाना ही नहीं बल्कि थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करना भी जरूरी होगा. क्योंकि थर्ड पार्टी इंश्योरेंस की वजह से गाड़ी से दुर्घटना होने पर बीमा कंपनी द्वारा पीड़ित रो भी मुआवदा मिल सकेगा. इस दौरान जिन गाड़ियों का बीमा नहीं होगा उससे दुर्घटना होने पर मृतक के परिजनों को अंतरिम भुगतान की मुआवजा राशि ली जाएगी.

Bihar Panchayat Chunav: इन आठ मतदान केंद्रों पर होगी दोबारा वोटिंग, जाने फैसले की वजह

वाहन नीलामी के बाद बची राशि की होगी वसूली

नए नियमों अनुसार, गाड़ी नीलाम करने के बाद जो राशि मिलेगी. उसे जिले के निर्धारित बैंक खाते में जमा कराया जाएगा. यदि राशि 5 लाख रुपये से कम है तो उस अंतर राशि की भरपाई बिना बीमा वाली गाड़ी मालिक से की जाएगी.

खत्म नहीं हो रही लालू के बेटों की रार, कभी तेजप्रताप के करीबी रहे सृजन स्वराज हुए तेजस्वी के साथ

बीमा होने पर बीमा कंपनी से अधिकारी करेंगे वसूली

अधिकारियों के अनुसार, जिन गाड़ियों का बीमा होगा उन गाड़ी मालिकों को इस प्रक्रिया से नुकसान नहीं होाग. बीमाधारक गाड़ी मालिक को पैसा नहीं देना होगा और न इसके लिए बैंक के चक्कर लगाने होंगे. सरकारी के नए नियमानुसार, बीमा कंपनी से सरकार के अधिकारी पैसे की वसूली करेंगे. यदि कंपनी पैसा देने में कोई आनाकानी करती है तो उसके खिलाफ बिहार लोक मांग वसूली के तहत कार्रवाई होगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें