सोमवार 14 सितंबर को पूरे बिहार में थम जाएंगे ट्रक,प्रदेशव्यापी चक्का जाम का ऐलान

Smart News Team, Last updated: 12/09/2020 11:49 PM IST
  • बिहार में सोमवार को ट्रक ऑनर्स एशोसिएशन ने 20 सूत्री मांगों को लेकर चक्का जाम करने का फैसला किया है. अनिश्चितकालीन हड़ताल में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सारी सेवाएं बाधित रहेंगी.
बिहार ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन ने ऐलान किया है कि सोमवार को पूरे राज्य में ट्रकों से चक्का जाम किया जाएगा

पटना. बिहार में ट्रकों का पहिया थमने जा रहा है. बिहार ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन ने ऐलान किया है कि सोमवार को पूरे राज्य में ट्रकों से चक्का जाम किया जाएगा. बिहार ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन ने अपनी 20 सूत्री मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है. एसोएिशन का कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती हैं ये आंदोलन चलता ही रहेगा.

बिहार ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन ने प्रेस मीटिंग में बताया कि वे अपनी 20 सूत्री मांगों को लेकर हड़ताल पर जा रहे हैं. इस आंदोलन की पूरी जवाबदेही सरकार की होगी. इस हड़ताल में कुछ आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सारी सेवाएं बाधित रहेंगी. चक्का जाम में दूध, दवा, बस एंबुलेंस और कैश वैन को नहीं रोका जाएगा. हालांकि ट्रकों के चक्का जाम होने से फल, सब्जी और अन्य खाद्य सामाग्री एक जगह से दूसरी जगह पर नहीं जा पाएंगी.

पति ने पीटा तो गुस्से में थाने में छोड़ गई मासूम बच्चा परेशान हो गई पुलिस

बिहार ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि पिछले साल 22 अक्टूबर को भी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा की गई थी. तब सरकार ने 14 सूत्री मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया था. जिससे हड़ताल को रोक दिया गया था लेकिन सरकार ने एक भी मांग को पूरी नहीं किया है. इस वजह से फिर से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है.

नीतीश कुमार ही CM चेहरा, नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी बीजेपी और लोजपा: जेपी नड्डा

बिहार ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन की 22 सूत्री मांगों में जेपी सेतु, राजेन्द्र सेतु और राज्य के बंद पड़े सेतु पर उत्तर बिहार से लौट रहे खाली ट्रकों का परिचालन शुरू किया जाए, लॉकडाउन से परेशान ट्रक मालिकों को 01 मार्च से 31 मार्च 2020 तक के रोड टैक्स को पूरी तरह से माफ कर दिया जाए, फिटनेस, परमिट बीमा और लाइसेंस जैसी कागजातों की वैधता 31 मार्च 2021 तक बढ़ाई जाए, बिहार में ट्रक मालिकों की खराब हालत को देखते हुए सरकार डीजल से उपकर टैक्स को वापस लें, गैर-कानूनी ढंग से सरकारी बैंक, प्राइवेट फाइनेन्स कम्पनी और प्राइवेट बैंक के गुंडों द्वारा किस्त वसूलने के नाम पर की जा रही गुंडागर्दी रोकी जाए और राज्य के सभी बालू खदानों से निर्धारित मूल्य पर बालू की आपूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित की जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें