बिहार विधानसभा में मुआवजे को लेकर मंत्री नीरज बबलू से सवाल, बोले-मेरा विभाग नहीं

Smart News Team, Last updated: Tue, 16th Mar 2021, 1:55 PM IST
  • सर्पदंश केस में मुआवजे को लेकर वन पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग के मंत्री नीरज बबलू से विधानसभा में उनकी ही पार्टी के विधायक ने सवाल कर लिया. जिसपर मंत्री ने कहा ये मेरा विभाग नहीं है. मंत्री के इस जवाब के बाद विपक्ष ने जमकर हंगामा किया.
बिहार विधानसभा में मंत्री नीरज बबलू से सांप डसने के कारण मृत्यु पश्चात मुआवजे को लेकर सवाल.

पटना. बिहार विधानसभा में मंगलवार को सांप डसने वाले मामले में मुआवजे को लेकर मंत्री नीरज बबलू बुरी तरह फंस गए. वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के मंत्री का जवाब सुनकर पक्ष और विपक्ष दोनों के विधायकों ने उन्हें घेर लिया. सर्पदंश मामले में मंत्री नीरज से सवाल किया जिसपर उन्होनें कह दिया कि ये उनका विभाग नहीं है. 

विधानसभा के प्रश्नकाल में बीजेपी के विधायक पवन जायसवाल ने सांप डसने के मामले में मुआवजे को लेकर अपनी ही पार्टी के मंत्री नीरज कुमार सिंह उर्फ बबलू को घेर लिया. सवाल किया गया कि सांप डसने से मृत के पीड़ित परिवार को मुआवजा देने का क्या प्रावधान है. बीजेपी विधायक ने यह सवाल पहले किया था जिसे आपदा प्रबंधन विभाग ने वन पर्यावरण विभाग को ट्रांसफर कर दिया था.

विधानसभा में हंगामे के बाद स्पीकर का निर्देश,व्यक्तिगत आरोप से पहले सदन को बताएं

मंत्री नीरज कुमार के जवाब के बाद सरकार को सदन में एकबार फिर घेर लिया गया. सदन में हंगामा होने लगा तो स्पीकर विजय सिन्हा ने कहा कि दोनों विभाग डिप्टी सीएम के साथ बैठकर हल निकालें.

विपक्ष ने इस सवाल के बाद सरकार को इस मुद्दे पर जमकर घेरा. एक विधायक ने विधानसभा में सवाल किया कि राज्य में वन एवं पर्यावरण अधिनियम के तहत सांपों को मारने पर गैर जमानती वारंट जारी किया जाता है लेकिन सांप के डसने पर मौत के बाद मुआवजा क्यों नहीं मिलता है.  

 भोजपुरी फिल्मों मे हीरोइन बनने गई लड़की का तीन महीने यौन शोषण, अब पहचानने से मना

सत्ताधारी पार्टी के विधायकों ने इसपर जवाब दिया कि अफसर गुमराह कर रहे हैं और एक-दूसरे विभाग में टालमटोली की जा रही है. ऐसे अफसरों पर कार्रवाई की जानी चाहिए. जानकारी के लिए बता दें कि बिहार सरकार ने सांप डसने के कारण होने वाली मौत के लिए पांच लाख रुपए पीड़ित परिवार को देने का प्रावधान रखा है. केंद्र सरकार के वन मंत्रालय द्वारा वन्य प्राणियों की सूची के अनुसार बाघ, चीता, हाथी, शेर आदि समेत सर्पदंश के कारण मृत्यु के बाद मुआवजे दिया जाता है. 

बिहार में महंगी होगी जमीन, बाजार मूल्य पर तय होगा जमीन का सर्किल रेट, सर्वे शुरू 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें