बिहार के इन जिलों में बारिश के आसार, मानसून का रुख झारखंड की तरफ शिफ्ट

Deepakshi Sharma, Last updated: Sun, 5th Sep 2021, 11:46 AM IST
  • बिहार में इस वक्त मानसून का असर कम होता जा रहा है. सबसे ज्यादा असर मध्य भारत के क्षेत्रों पर दिखा रहा है. वहीं, 6 से 7 सितंबर के बीच बिहार, बंगाल और झारखंड के गंगा से सटे इलाकों में तेज बारिश होने की संभावना है. साथ ही मानसून का रुख दक्षिण की तरह होता दिख रहा है.
बिहार के कई जिलों में बने बारिश के आसार 

पटना. मानसून का असर इस वक्त बिहार पर कम होता हुआ नजर आ रहा है. इसके चलते बारिश भी अभी ज्यादा होती नहीं दिख रही है. इस वक्त मानसून का असर सबसे ज्यादा मध्य भारत के हिस्सों पर पड़ रहा है. स्थानीय कारणों की वजह से बिहार के अलग-अलग इलाकों में थोड़ी बहुत बारिश हो रही है. दिल्ली के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र से ये पहले से अनुमान लगाया गया है कि 6 से 7 सितंबर के बीच बिहार, बंगाल और झारखंड के गंगा से सटे इलाकों में तेज बारिश की संभावना है. इसके अलावा मानसून का रुख दक्षिण की तरफ जाता हुआ दिखा रहा है.

इस वक्त यह बीकानेर, सीकर, ग्वालियर, सीधी, रांची और बंगाल के दीघा से होकर गुजर रही है. वहीं, राज्य में बारिश कम होने के चलते इस वक्त उमस, गर्मी और जबरदस्त धूप बनी हुई है. साथ ही 48 घंटे के भीतर बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर एरिया बनने की संभावना है. इसका असर आसपास के क्षेत्रों में मौसम के बदलाव के तौर पर देखने को मिलेगा. इसी वजह से झारखंड से सटे दक्षिण बिहार के क्षेत्र में बारिश होने की संभावना है. यानि इसका सबसे ज्यादा असर बंगाल और झारखंड में देखने को मिलेगा.

पूर्व DSP पर गिरी गाज! EOU ने पटना समेत कई जगहों पर की छापेमारी, आय से अधिक संपत्ति का आरोप

साथ ही मौसम विज्ञान विभाग के पटना केंद्र ने रविवार के दिन सुबह मधुबानी, अरवल, सीतामढ़ी, जहानाबाद, रोहतास, औरंगाबाद, मुजफ्फरपुर, वैशाली और नालंदा जिले के कुछ क्षेत्रों में आज हल्की से मध्य बारिश होने की संभावना जताई है. केंद्र के मुताबिक 9 सितंबर तक बिहार के ज्यादातर क्षेत्रों में तेज बारिश की संभावना है. जानकारी के लिए बता दें कि बिहार में जून से लेकर अगस्त तक औसत से ज्यादा बारिश हुई है. हालांकि बारिश पूरे राज्य में एक जैसी नहीं हुई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें