बिहार चुनाव की तैयारियां तेज, बीजेपी ने लॉन्च किया ‘मोदी लहर’और ई-कमल

Smart News Team, Last updated: 17/10/2020 03:12 PM IST
  • बीजेपी बिहार विधानसभा चुनावों में प्रचार प्रसार में किसी तरह की कसर नहीं छोड़ना चाहती. इसके लिए शनिवार को मोदी लहर सॉन्ग और ई-कमल नाम की वेबसाइट लॉन्च की गई. इस मौके पर पार्टी नेता भूपेन्द्र यादव ने राजेडी पर जमकर निशाना भी साधा.
डिजिटल लॉन्च के दौरान मौजूद बीजेपी नेता मनोज तिवारी, भूपेन्द्र यादव व अन्य

पटना: बिहार के विधानसभा चुनावों में अपनी काम का जोर शोर से प्रदर्शन करने के लिए बीजेपी ने कमर कस ली है. आज बीजेपी ने अपना थीम सॉन्ग मोदी लहर और ई-कमल नाम की वेबसाइट लांच किया. इस मौके पर पार्टी बिहार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जयसवाल, राष्ट्रीय महामंत्री एवं बिहार प्रभारी भूपेन्द्र यादव, सांसद मनोज तिवारी मौजूद रहे.

इस दौरान भूपेन्द्र यादव ने राजेडी पर निशाना साधते हुए कहा कि आरजेडी के रास्ते उग्र वामपंथ बिहार की राजनीति में सक्रिय होने की कोशिश कर रहा है. आरजेडी इस उग्र वामपंथ को अपने कंधे पर लेकर घूम रही है. अब तो साफ होने लगा है, आरजेडी पर उग्र वामपंथी दल 'माले' का कब्जा हो चुका है. तेजस्वी की भूमिका तो 'मुखौटे' की हो गयी है.

BJP डिजिटल विंग ने कसी कमर, ‘बिहार में का बा' का जवाब ‘बिहार में ई बा’ गाने से

बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी एकबार फिर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चहरे को भुनाने की योजना बनाती दिख रही है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सीएम नीतीश कुमार नहीं ‘मोदी लहर’  के नाम से प्रचार के लिए थीम सांग लांच किया गया है. इस गाने को आवाज दी है भोजपुरी सिनेमा के सुपर स्टार और बीजेपी की सदस्यता ले चुके अभिनेता और गायक दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ ने.

रविशंकर प्रसाद का बड़ा बयान, बिहार चुनाव में NDA के चारों दल चट्टानी एकता के साथ

इसके साथ ही भारतीय जनता पार्टी के आधिकारिक बिहार ट्वीटर से ट्वीट करके जानकारी दी कि  राज्य में सड़कों का जाल बिछाया, पुल विशाल बनाए गए. कुल 2775 कि.मी. राष्ट्रीय राजमार्ग को फोरलेन बनाया गया है. साथ ही गांव की हर गली का निर्माण करके पक्की सड़क का जाल बिछाया गया है. यही नहीं प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत बिहार के लिए पशुपालन, मत्स्य और डेयरी से संबंधित 294.53 करोड़ की योजनाओं की सौगात दी गई है. अनुमान है कि इस योजना से करीब 55 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें