जिसे बीजेपी की वैक्सीन बताया गया, आज उसे पूरी दुनिया खरीद रही है: रवि शंकर

Smart News Team, Last updated: 06/02/2021 06:35 PM IST
  • केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने शनिवार को पटना में बजट के बारे में पत्रकारों से बातचीत की. उन्होंने कहा कि भारत की कोरोना वैक्सीन को बीजेपी की वैक्सीन कहते थे, हंसा करते थे और भारत की वैक्सीन को पूरी दुनिया खरीदना चाहती है.
केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने केन्द्रीय बजट को लेकर पटना में पत्रकारों से बातचीत की.

पटना. केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने शनिवार को पटना में कहा कि भारत की कोरोना वैक्सीन को बीजेपी वैक्सीन कहते थे, उसी वैक्सीन को पूरी दुनिया खरीद रही है. केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने केन्द्रीय बजट 2021-22 को लेकर पत्रकारों से बातचीत की. उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भरता भारत के तहत बनी वैक्सीन के लिए बजट में 35 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान है. कई देशों का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि वैक्सीन पर हंसते थे उसे पूरी दुनिया खरीदना चाह रही है.

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसानों के विकास और 2022 में आय को दोगुना करने के लिए काम कर रही है. उन्होंने कहा कि भारत के किसानों को हर दो महीनों में दो हजार रुपए दिए जाते हैं जिसके लिए 14 हजार करोड़ रुपए भारत सरकार देती है. वहीं फसल बीमा में 90 हजार करोड़ रुपए देती है.

छात्राओं को CM का तोहफा, मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के तहत मिलेंगे 25 हजार

रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि इस बजट में किसानों के लिए स्वामित्व स्कीम लाई गई है. जिसमें किसानों को डिजिटल कार्ड दिया जाएगा. अब किसान एक बटन से अपनी जमीन के मालिक बन सकेंगे. वहीं सरकार 16 लाख 5 हजार करोड़ रुपए कृषि लोन दे रही है. ई-मंडी योजना के तहत मंडियो को डिजिटल बनाया जा रहा है. सरकार 1 हजार नई मंडियां खोलने जा रही है.

सचिन तेंदुलकर पर बयान को लेकर घिरे शिवानंद तिवारी, RJD न करे राजनीति: सुशील मोदी

केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर ने कहा कि बिहार की जो माताएं-बहनें असम के टी गाॅर्डन में काम करती है उनके लिए बजट में प्रावधान है. जो महिलाएं-बहनें टी-गाॅर्डन में काम करती हैं उनके लिए बजट में 1 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान है. उन्होंने कहा कि इस बजट में बिहार रेलवे के लिए 5 हजार 150 करोड़ का प्रावधान है जो यूपीए सरकार के 2009 से 2014 के बजट से 355 फीसदी ज्यादा है. उन्होंने कहा कि बिहार में अभी 78 हजार करोड़ रुपए के 97 प्रोजेक्ट चल रहे हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें