बिहार में ब्लैक फंगस घोषित की जाएगी महामारी, बैठक में होगा अंतिम निर्णय

Smart News Team, Last updated: Sat, 22nd May 2021, 2:27 PM IST
बिहार में ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया जाएगा. शनिवार को आयोजित एक बैठक में इसका निर्णय लिया जाएगा. दरअसल, केंद्र ने सभी राज्यों को म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस को महामारी एक्ट 1897 के तहत नोटेबल डिजीज घोषित करने को कहा है. इससे पहले हरियाणा राजस्थान और उत्तर प्रदेश सरकार इसे महामारी घोषित कर चुकी हैं.
बिहार में ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया जाएगा.

पटना. प्रदेश में ब्लैक फंगस को महामारी घोषित करने के लिए शनिवार को बैठक आयोजित की जाएगी.गौरतलब है कि राज्य में प्रतिदिन ब्लैक फंगस के मरीज सामने आ रहे हैं. कोरोना महामारी के बीच देश में अब ब्लैक फंगस के मामले भी लोगों में देखें जा रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार ब्लैक फंगस को लेकर केंद्र सरकार से दिशा निर्देश मिलने के बाद राज्य सरकार उसे आपदा कानून के तहत महामारी घोषित करने पर विचार कर रही है. इसको लेकर बैठक में अंतिम निर्णय लिया जाएगा.

आपको बता दें कि केंद्र ने सभी राज्यों को म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस को महामारी एक्ट 1897 के तहत नोटेबल डिजीज घोषित करने को कहा है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने राज्‍यों को लिखे पत्र में कहा है कि सभी सरकारी, प्राइवेट अस्‍पतालों और मेडिकल कॉलेजों को ब्‍लैक फंगस की स्‍क्रीनिंग, डायग्‍नोसिस और मैनेजमेंट के गाइडलाइंस का पालन करना होगा. इसके अलावा राज्यों को ब्लैक फंगस के केस, मौत, इलाज और दवाओं का हिसाब रखना होगा.

ब्लैक फंगस जैसा घातक और जानलेवा नहीं है व्हाइट फंगस, जानें विशेषज्ञों की राय

ज्ञात हो कि हरियाणा ब्लैक फंगस को महामारी घोषित करने वाला पहला राज्य है. वहां के मेडिकल कॉलेजों में 20-20 बेड के वॉर्ड तैयार किए गए हैं. इसके बाद राजस्थान और यूपी सरकार ने भी ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया है. सरकार का कहना है कि महामारी घोषित होने के बाद बीमारी की प्रभावी तरीके से मॉनिटरिंग हो सकेगी. इस मामले में केंद्र सरकार ने कहा है कि ब्लैक फंगस को महामारी घोषित करने के बाद सभी राज्यों को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर के जारी गाइडलाइन का पालन करना होगा. ब्लैक फंगस के सभी मामलों की रिपोर्ट जिला स्तर के चीफ मेडिकल ऑफिसर को की जाएगी. इसके अलावा इंटीग्रेटेड डिजीज सर्विलांस प्रोग्राम के सर्विलांस सिस्टम में भी इसकी जानकारी दी जाएगी.

बिहार में ब्लैक के बाद वाइट फंगस का कहर, पटना में 4 कोरोना मरीजों में ये संक्रमण

जानकारी के अनुसार बिहार में शुक्रवार को ब्लैक फंगस के 39 नए मामलों की पुष्टि हुई है. इनमें से आठ मरीज अस्पताल में भर्ती हैं. पटना एम्स की ओपीडी में 30 मरीज पहुंचे जिनमें से सात मरीजों को भर्ती किया गया है. आईजीआईएमएस में एक नया मरीज भर्ती हुआ है. बाकी मरीजों को दवा देकर घर भेज दिया गया। वहीं, निजी अस्पताल पारस में एक मरीज ओपीडी में आया था, जिसे दवा देकर घर भेज दिया गया है. कुल 39 मामलों में से 32 पटना के तीन अस्पतालों और बाकी छपरा के निजी अस्पताल में मिले हैं. इस प्रकार बिहार में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या 174 हो गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें