बिहार बोर्ड: मेधा दिवस का कार्यक्रम स्थगित, 3 दिसंबर को होना था आयोजित

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 03:32 PM IST
  • बिहार बोर्ड ने मेधा दिवस का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है. तीन दिसंबर को डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती पर मेधा दिवस मनाया जाना था.
बिहार बोर्ड ने मेधा दिवस का कार्यक्रम स्थगित कर दिया है.

पटना. बिहार बोर्ड की ओर से मेधा दिवस का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है. बिहार बोर्ड की तरफ से तीन दिसंबर को डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती पर मेधा दिवस जाना था. राज्य स्तरीय क्विज प्रतियोगिता में जीते छात्रों को भी तीन दिसंबर को पुरस्कृत नहीं किया जाएगा. 

इस कार्यक्रम में मैट्रिक और इंटरमीडिएट 2020 के 75 विद्यार्थियों को सम्मानित किया जाना था. इसके लिए कार्यक्रम की रूपरेखा तय कर ली गई थी लेकिन एक दिन पहले इसे स्थगित कर दिया गया है. यह कार्यक्रम पटना के ज्ञान भवन, सम्राट अशोक कन्वेंशन केन्द्र पर आयोजित होना था. इस कार्यक्रम में बिहार बोर्ड के मैट्रिक 2020 के टॉप-10 और इंटरमीडिएट 2020 के टॉप-पांच छात्रों को सम्मानित किया जाना था. कार्यक्रम में डॉ. राजेंद्र प्रसाद के जीवनी से जुड़ा कार्यक्रम आयोजित किया जाता है.

बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सुबोध मेहता ने छोड़ी उपेन्द्र कुशवाहा की रालोसपा

कोरोना काल में होने वाले इस कार्यक्रम के लिए बिहार बोर्ड ने छात्रों के लिए कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करने का निर्देश जारी किया था. इस कार्यक्रम में बिहार बोर्ड के टॉपर को एक-एक लाख रुपये की राशि पुरस्कार के तौर पर दिया जाएगा. साथ ही टॉपरों को लैपटॉप भी मिलेगा. 

बिहार: राहत! प्राइवेट लैब में कोविड-19 के RT-PCR जांच हुआ सस्ता, जानें नए रेट

मेधा दिवस समारोह पर सभी जिला मुख्यालयों में डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद के प्रेरणादायक जीवन के बारे में बताया जाता है. इसके अलावा क्विज, लेख प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता समेत सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें