बिहार में बसपा को झटका, चुनाव से पहले उपाध्यक्ष राजेश त्यागी JDU में शामिल

Smart News Team, Last updated: 12/09/2020 09:35 PM IST
  • बिहार में चुनावों की तैयारियों के बीच नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला शुरु हो गया है. इसी क्रम में आज प्रदेश बसपा उपाध्यक्ष राजेश त्यागी ने जदयू की सदस्यता ग्रहण कर ली. 
.

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव करीब आते ही सभी दलों के नेताओं में दल बदलने या पार्टियों के गठबंधन बदलने की होड़ सी मच गई है. बदलते घटनाक्रम में प्रदेश बसपा उपाध्यक्ष राजेश त्यागी ने जदयू का दामन थाम लिया है. जदयू के तीन दलित मंत्रियों महेश्वर हजारी, संतोष निराला, रमेश ऋषिदेव ने राजेश त्यागी को पार्टी की सदस्यता दिलायी. जदयू की सदस्यता लेने के बाद राजेश त्यागी ने कहा कि नीतीश कुमार से बड़ा दलितों का शुभचिंतक नेता देश में कोई नहीं है.

आपको बता दें कि इससे पहले महागठबंधन को झटका देते हुए कांग्रेस की गोविंदपुर से विधायक पूर्णिया यादव एवं बरबीघा से विधायक सुदर्शन कुमार तथा राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री भोला राय ने  भी अपनी-अपनी पार्टी से नाता तोड़कर शु्क्रवार को जदयू का साथ पकड़ लिया है. इस दौरान जदयू के वरिष्ठ नेता एवं सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने शुक्रवार को पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में जदयू मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में तीनों नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलायी थी.

बिहार चुनाव: चिराग पासवान बोले- नीतीश से दिक्कत नहीं, BJP के फैसले के साथ है LJP

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बिहार विधान परिषद के सदस्य प्रेमचंद्र मिश्रा ने पार्टी विधायकों के जदयू में शामिल होने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि श्रीमती यादव एवं श्री कुमार के जाने से कांग्रेस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. उन्होंने कहा कि इन दोनों विधायकों को पिछले पांच वर्षों में कांग्रेस की गतिविधियों में कभी सक्रिय योगदान नहीं दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें