अनलॉक के बाद यूपी से बिहार के इन जिलों की बस सेवा शुरू,जानें किराया और टाइम टेबल

Pallawi Kumari, Last updated: Fri, 3rd Sep 2021, 1:00 PM IST
  • कोरोना महामारी की दूसरी लहर से सब कुछ बंद पड़ा था. यूपी- बिहार बस सेवा भी बंद रहने के कारण यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा रहा था. लेकिन यात्रियों के लिए अच्छी खबर है कि अनलॉक के बाद अब बस सेवा परिवहन से यूपी-बिहार बस सेवा को फिर से संचालित करने का फैसला लिया है.
यूपी से बिहार बस सेवा. फोटो साभार-हिन्दुस्तान

कोरोना महामारी के दौरान यात्रियों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा. बस सेवा बंद होने के कारण यात्री को रोजगार, काम, और आवागमन में काफी परेशानी हो रही थी. लेकिन अब उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों के लिए खुशखबरी है. अब अनलॉक होने के बाद यूपी- बिहार की सरकारी बस सेवा का परिचालन शुरू किया जा रहा है. बीएसआरटीसी (BSTRC) के क्षेत्रीय प्रबंधक ने बताया कि लॉकडाउन के कारण लखनऊ से बिहार आने वाली बस सेवा का परिचालन बंद हो गया था जिसे इसे दोबारा शुरू किया गया है. 

लॉकडाउन के कारण इन रूट की बस सेवा बंद पड़ी थी. बस सेवा शुरू होने के बाद जानिए क्या होगा बस का किराया और टाइम टेबल.

बिजली उपभोक्ताओं के लिए योगी सरकार लाएगी ओटीएस स्कीम, बकाए बिल का होगा समाधान

लखनऊ से मुजफ्फरपुर - उत्तर प्रदेश पथ परिवहन निगम की बस रोजाना यूपी के चारबाग से दोपहर 2 बजे खुलती है और मुजफ्फरपुर के लिए रवाना होती है. आलमगंज, गोरखपुर होते हुए मुजफ्फरपुर इमलीचट्टी बस स्टैंड में सुबह चार बजे पहुंचती है. फिर इसी दिन दोपहर दो बजे बस लखनऊ के लिए रवाना होती है. इसके परिचालन से बिहार से लखनऊ जानेवाले यात्रियों को काफी सुविधा होगी. इसका किराया करीब 600 रुपये है

मुजफ्फरपुर से पटना- मुजफ्फरपुर से पटना जाने के लिए रोजाना दो बार इलेक्ट्रॉनिक बस अप डाउन करती है. बस पटना से खुलकर सुबह 9 बजे मुजफ्फरपुर इमलीचट्टी बस स्टैंड पहुंचती है. एक घंटे विराम के बाद 10 बजे वापस पटना के लिए रवाना होती है. यह बस दोपहर तीन बजे पटना पहुंचती है. यहां एक घंटे विराम के बाद शाम 4 बजे मुजफ्फरपुर से पटना के लिए खुलती है. इसके अलावा एक और इलेक्ट्रिक बस पटना एयरपोर्ट से भाया मुजफ्फरपुर, दरभंगा एयरपोर्ट होते हुए चलती है.

घरेलू गैस LPG सिलेंडर पर नहीं मिल रही सब्सिडी तो पढ़ें ये खबर, जानें क्यों नहीं आ रहा पैसा

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें