पटना

कोरोना लॉकडाउन में छूट गई पढ़ाई, अब कैसे देंगे बोर्ड की परीक्षा…

Smart News Team, Last updated: 04/06/2020 09:25 AM IST
  • लॉकडाउन में हमारी पढ़ाई छूट गई। अब हमें बोर्ड परीक्षा में पास होने का डर सता रहा है। क्या प्रश्न पत्र में कोई बदलाव किया जायेगा। प्रश्न पत्र आसान या कठिन रहेगा। केंद्र पर जाने से हमें कोरोना तो नहीं होगा। हमें कितने बजे केंद्र पर जाना होगा।' ये तमाम सवाल उन बच्चों द्वारा पूछे जा रहे हैं जो 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होंगे।
परीक्षा के दौरान की तस्वीर (फाइल फोटो)

कोरोना वायरस संकट और लॉकडाउन की वजह से लंबे समय से स्कूल बंद हैं। स्कूली बच्चों के सामने सबसे बड़ी समस्या है कि लॉकडाउन के दौरान पढ़ाई की आदत छूट गई है तो फिर वे बोर्ड की परीक्षा कैसे देंगे। 'लॉकडाउन में हमारी पढ़ाई छूट गई। अब हमें बोर्ड परीक्षा में पास होने का डर सता रहा है। क्या प्रश्न पत्र में कोई बदलाव किया जायेगा। प्रश्न पत्र आसान या कठिन रहेगा। केंद्र पर जाने से हमें कोरोना तो नहीं होगा। हमें कितने बजे केंद्र पर जाना होगा।' ये तमाम सवाल उन बच्चों द्वारा पूछे जा रहे हैं जो 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होंगे।

दरअसल, सीबीएसई द्वारा बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए एक जून से टेली काउंसिलिंग शुरू की गई है। दो दिनों में सैकड़ों बच्चों ने प्रश्न किया। बोर्ड की मानें तो दो दिनों में 854 विद्यार्थियों ने फोन किया। इनमें अधिकतर सवाल जुलाई में होने वाले बोर्ड परीक्षा से संबंधित थे। काउंसिलिंग में परीक्षा कैंसिल करने की भी मांग बच्चों द्वारा की जा रही है। ज्ञात हो कि सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा एक से 15 जुलाई तक आयोजित की जायेगी।

इस तरह दिये जा रहे सुझाव

- कोरोना से बचाव के लिए केंद्र पर मास्क लगाकर जाना होगा

- ग्लब्स पहन कर केंद्र पर प्रवेश करें

- परीक्षा केंद्र पर सेनेटाइजर रहेगा, इसके अलावा खुद भी सेनेटाइजर रखें

- केंद्र पर किसी दूसरे छात्र से बात करें तो मास्क लगायें रखें

- उत्तरपुस्तिका और पेन आदि को सेनेटाइजर करें

- बैठने से पहले बेंच डेस्क को सेनेटाइजर कर लें

सीबीएसई के काउंसलर प्रमोद कुमार ने बताया कि टेली काउंसिलिंग में इस बार बोर्ड परीक्षा को लेकर बच्चे थोड़े घबराये हुए हैं। परीक्षा और कोरोना वायरस को लेकर बच्चे अधिक सवाल पूछ रहे हैं। परीक्षा को लेकर बच्चे अधिक चिंतित हैं।

अन्य खबरें