इथेनॉल प्लांट को भी 95% लोन देने की सिफारिश, शाहनवाज हुसैन ने भेजा था पत्र

Smart News Team, Last updated: Wed, 7th Jul 2021, 12:06 AM IST
बिहार की इथेनॉल इकाइयों के लिए भी केंद्र की तर्ज पर 95 फीसदी लोन देने की सिफारिश केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के खाद्य एवं जनवितरण विभाग ने की है. हाल ही में उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने इसको लेकर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन और खाद्य मंत्री पीयूष गोयल को पत्र भी भेजा है.
उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन

पटना. बिहार की इथेनॉल इकाइयों के लिए भी केंद्र की तर्ज पर 95 फीसदी लोन देने की सिफारिश की गई है. यह सिफारिश केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के खाद्य एवं जनवितरण विभाग ने की है. केंद्र सरकार के बाद बिहार इथेनॉल उत्पादन को लेकर नीति बनाने वाला देश का पहला राज्य है.

बिहार में ऋण देने के मामलों में बैंकों का रुख बहुत लचीला नहीं रहा है. इस पर नीतीश सरकार से लेकर उद्योग जगत से जुड़े लोग नाराजगी जताते रहे हैं. राज्य में इथेनॉल इकाई लगाने के लिए इन दिनों निवेश प्रस्तावों की कतार लगी है. इन निवेश योजनाओं को जमीन पर उतारने के लिए बैंकों का सहयोग बहुत जरूरी है.

उद्योग क्षेत्र से जुड़े लोगों का कहना है कि इथेनॉल इकाई लगाने के लिए केंद्र और बिहार की नीति के तहत आवेदन करने की स्थिति में ऋण देने के नियम-शर्ते अलग हैं. केंद्रीय योजना के तहत 95 फीसदी तक ऋण देने का प्रावधान है. मर्जिन मनी और कोलेट्रल सिक्योरिटी भी कम है.

ऋण देने को लेकर उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने बैंक के अधिकारियों के साथ बैठक भी की थी. उन्होंने बिहार की इथेनॉल इकाइयों को केंद्र की तर्ज पर ऋण और अन्य सुविधाएं देने की बात कही थी. इसको लेकर मंत्री शाहनवाज हुसैन ने हाल ही में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन और खाद्य मंत्री पीयूष गोयल को पत्र भी भेजा है. आपको बता दें कि बिहार में इथेनॉल उत्पादन इकाई लगाने के लिए उद्योग विभाग को 30 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव मिले हैं. अब तक करीब 10 इकाइयों को जमीन का आवंटन भी हो चुका है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें