कोरोना काल के दौरान सांसद निधि पर लगी रोक हटी, अब बिहार के विकास में खर्च होंगे 110 करोड़

Somya Sri, Last updated: Sat, 13th Nov 2021, 9:36 AM IST
  • 10 नवंबर की केंद्रीय कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया है कि प्रत्येक सांसद को 2- 2 करोड़ रुपये स्थानीय क्षेत्र विकास मद में दिए जाएंगे. इस तरीके से बिहार में 55 सांसदों को मिलाकर स्थानीय क्षेत्र विकास मद में 110 करोड़ पर आएंगे. कोरोना काल के दौरान निर्धारित सांसद निधि पर केंद्र सरकार की ओर से रोक लगा दी गई थी. 1 साल में प्रत्येक सांसद को पांच करोड़ रुपए सांसद निधि के तौर पर दिए जाते हैं. जिनमें से तीन करोड़ रुपए कोरोना फंड में खर्च हो चुके हैं. 
कोरोना काल के दौरान सांसद निधि पर लगी रोक हटी, अब बिहार के विकास में खर्च होंगे 110 करोड़ (फाइल फोटो)

पटना: कोरोना काल के दौरान निर्धारित सांसद निधि पर केंद्र सरकार की ओर से रोक लगा दी गई थी. 1 साल में प्रत्येक सांसद को पांच करोड़ रुपए सांसद निधि के तौर पर दिए जाते हैं. जिनमें से तीन करोड़ रुपए कोरोना फंड में खर्च हो चुके हैं. जबकि बाकी बचे दो करोड़ रुपए सांसदों को आवंटित करने का फैसला किया गया है. 10 नवंबर की केंद्रीय कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया है कि प्रत्येक सांसद को 2- 2 करोड़ रुपये स्थानीय क्षेत्र विकास मद में दिए जाएंगे. इस तरीके से बिहार में विकास पर 110 रुपये खर्च होंगे.

प्रत्येक सांसद को स्थानीय क्षेत्र विकास मद में मिलेंगे दो करोड़

बता दें कि बिहार राज्य से लोकसभा में 40 और राज्यसभा में 16 सदस्य निर्वाचित हैं. जदयू के राज्यसभा सदस्य शरद यादव की सदस्यता का मामला इस वक्त न्यायालय में लंबित चल रहा है. इसलिए उनके मद में धन का आवंटन नहीं होता है. वहीं बाकी बचे 55 सदस्यों में प्रत्येक साल स्थानीय क्षेत्र विकास मद में 5 करोड़ आवंटित किए जाते हैं. हालांकि करोना दौर के वक्त केंद्र सरकार की ओर से सांसद निधि पर रोक लगा दी गई थी. इस वजह से 3 करोड रुपए कोरोना फंड में खर्च किए जा चुके हैं. जबकि 10 नवंबर की केंद्रीय कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया है कि बाकी बचे 2 करोड रुपए स्थानीय क्षेत्र विकास मद में सांसद को दिए जाएंगे. इस तरीके से बिहार में 55 सांसदों को मिलाकर स्थानीय क्षेत्र विकास मद में 110 करोड़ पर आएंगे.

गलत उम्र बताकर ले रहे हैं पेंशन तो नीतीश सरकार सूद समेत करेगी वसूली, दर्ज होगा FIR

राशि मिलने से मिलेगी राहत

जदयू के सांसद चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी ने कहा कि केंद्र सरकार का फैसला बिहार राज्य के हित में है. कोरोना वायरस के कारण विकास का बहुत काम बाधित हुआ था. उम्मीद है कि राशि मिलने से थोड़ी राहत मिलेगी. बता दें कि बिहार में 2 सालों से सांसद निधि योजना बाधित चल रही थी. साल 2019 में लोकसभा चुनाव हुआ जिसके बाद बिहार को सांसद निधि के तौर पर 280 करोड़ पर मिले. जबकि साल 2020-21 में सांसद निधि के तौर पर राज्य को कुछ नहीं मिला.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें