पटना रिंग रोड के 14 किमी. का भूमि अधिग्रहण का खर्च अब केन्द्र सरकार उठाएगी

Smart News Team, Last updated: 03/12/2020 05:40 PM IST
  • पटना रिंग रोड के 14 किमी. की भूमि अधिग्रहण का खर्च अब केन्द्र सरकार उठाएगी. रामनगर से कच्चीपुर दरगाह की बीच बनने वाली सड़क पर लगभग 800 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा.
पटना रिंग रोड की 14 किमी. रोड के भूमि अधिग्रहण का खर्च केन्द्र सरकार उठाएगी. प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. पटना रिंग रोड के 14 किमी. की भूमि अधिग्रहण खर्च अब केन्द्र सरकार उठाएगी. पटना की आउटर रिंग रोड में रामनगर से कच्चीपुर दरगाह के बीच 14 किमी. की चार लेन सड़क बननी है. जिसके अधिग्रहण में लगभग 800 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा. जिसको अब सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय एनएचएआई उपलब्ध कराएगा.

इस बारे में बिहार पथ परिवहन के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि केन्द्र सरकार ने जमीन अधिग्रहण का 800 से 1 हजार करोड़ रुपए खर्च करने की बात कही है. इसमें किसानों और कई एजेंसियों की जमीन की खरीद होनी है. उन्होंने कहा कि जिन जमीनों की खरीद होनी है वो हरे-भरे घास का मैदानी इलाका है. ऐसे में किसानों को जमीन अधिग्रहण एक्ट के तहत विश्वास में लेना बहुत जरूरी है.

सम्पूर्ण क्रांति और राजधानी एक्स्प्रेस समेत सात ट्रेनों के समय में बदलाव

आपको बता दें कि 15 हजार करोड़ की 130 किमी. लंबी रिंग रोड परियोजना का ये बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा है. इसके खर्च को लेकर केन्द्र और राज्य सरकार के बीच पेंच फंसा हुआ था. इस भारतमाला प्रोजेक्ट में एनएचआई रिंग रोड का निर्माण कर रही है. जिसमें गंगा नदी पर सिक्स लेन का कच्छी दरगाह-बिदरपुर पुल और दानापुर के पास फोर लेन को पुल प्रस्तावित है. इस प्रोजेक्ट में सारा खर्च केन्द्र सरकार को उठाना है और भूमि अधिग्रहण का खर्चा राज्य सरकार को उठाना था.

पटनाः घरेलू रसोई गैस हुई 50 रुपए महंगी, जानिए एलपीजी सिलेंडर के नए रेट

इस प्रोजेक्ट के बारे में आरसीडी के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने कहा कि रामनगर और कच्चीपुर दरगाह के बीच की भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया जल्द ही पूरी हो जाएगी. वहीं बिहार राज्य सड़क विकास निगम के प्रबंध निदेशक संजय अग्रवाल ने कहा कि पटना से वैशाली को जोड़ने वाला कच्ची दरगाह-बिदुपुर का निर्माण कार्य जोरों पर है. ये परियोजना अगले साल के अंत तक पूरी हो जाएगी.

ED की पीएफआई पर बड़ी कार्रवाई, UP-बिहार समेत 9 राज्यों में मारे छापे

आपको बता दें कि प्रस्तावित ये रिंग रोड बिहटा से शुरू होकर नौबतपुर, डुमरी, बेलदारी चक, राम नगर, कच्छी दरगाह, बिदुपुर, नयागांव, दिघवारा और शेपुर से होकर गुजरेगी. रिंग रोड के बनने के बाद आपको बेगूसराय और गया जाने वाले लोगों को शहर के अंदर से गुजरना नहीं पड़ेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें