CM नीतीश बोले-बिहार में छोटी-छोटी नदियों को जोड़ने की योजना बनेगी, हर खेत में पानी पहुंचाने का निर्देश

Sumit Rajak, Last updated: Sat, 5th Feb 2022, 9:17 AM IST
  • हर साल बाढ़ से परेशान होने वाला बिहार इसे निजात पाने के लिए नदी जोड़ो योजना पर तेजी से काम करने की तैयारी में जुट गया है. नीतीश कुमार की सरकार शुरुआत उन छोटी-छोटी नदियों को जोड़ने की करने की तैयारी कर रही है जिनके जुड़ने से न सिर्फ बाढ़ के समय राहत मिलेगी बल्कि छोटी नदियों के आपस में जुड़ने से जल भी सरंक्षित रहेगा और साथ ही इससे सिंचाई कार्य में भी सुविधा होगी.
Bihar chief minister Nitish Kumar (HT File Photo)

पटना.बिहार राज्य में छोटी-छोटी नदियों को जोड़ने की योजना बनेगी. इसको लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि नदियों को जोड़ने की योजना बनाएं और इसका व्यवहारिक आकलन कराएं. छोटी नदियों के आपस में जुड़ने से जल संरक्षित रहेगा और लोगों की सिंचाई में भी सुविधा होगी. इसके लिए जरूरी निर्देश मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दे दिया है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अणे मार्ग स्थित संकल्प में वीडियो कॉन्फ्रसिंग के माध्यम से जल संसाधन विभाग की कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं की समीक्षा की. बैठक में जल संसाधन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से जल संसाधन विभाग के कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं की कार्य प्रगति की जानकारी दी. उन्होंने सिकरहना नदी के दायें किनारे तटबंध निर्माण का कार्य, बख्तियारपुर में गंगा की धार का पुनर्स्थापन कार्य, टाल विकास योजना, कोसी-मेची लिंक योजना, उत्तर कोयल जलाशय परियोजना, उत्तर बिहार की बाढ़ एवं जलजमाव की समस्या, दक्षिण बिहार की सिंचाई एवं बाढ़ की समस्या, गंगाजल उद्वह योजना एवं हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने की योजना की अद्यतन स्थिति की जानकारी दी.

बसंत पंचमी:मां सरस्वती की पूजा आज, सुबह 6:43 से दोपहर 12:35 तक उत्तम मुहूर्त

नीतीश कुमार ने जानकरी लेने के बाद अधिकारियों को कई महत्वपूर्ण निर्दश भी दिए जिनमें सबसे महत्वपूर्ण छोटी-छोटी नदियों को जोड़ने के लिए आकलन के निर्देश भी दिए. बैठक में जो निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं वे बिहार के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं. गंगा जल उद्वह योजना के तहत राजगीर, गया, बोधगया और नवादा में सभी लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए तेजी से कार्य किया जाए. समय सीमा के अंदर इस योजना को पूरा किए जाने के सीएम नीतीश कुमार ने निर्देश दिए.  मुख्यमंत्री सात निश्चय 2 के तहत हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने के लिए योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने के निर्देश दिए. साथ ही छोटी छोटी नदियों जो जोड़ने की योजना बनाने और इसके लिए व्यावहारिक आकलन करें. नदियों में गाद की समस्या के समाधान के लिए गाद प्रबंधन के लिए काम करने के निर्देश दिए. बाढ़ से बचाव  के लिए ली गयी सभी योजनाओं  को जल्द जल्द से करें.

बता दें कि बिहार में नदी जोड़ो योजना के साथ ही गंगा उद्वह योजना मुख्यमंत्री की महत्वकांक्षी योजना मानी जाती है, जिसके तहत गंगा नदी के पानी को लिफ्ट कर राजगीर, नालंदा, नवादा और गया जिला में लाना है. बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव आमिर सुबहानी मौजूद थे. वहीं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जल संसाधन मंत्री संजय झा भी जुड़े हुए थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें