CM नीतीश कुमार का निर्देश, एक ही प्लेटफॉर्म पर मिलें सभी लोकसेवाएं

Smart News Team, Last updated: Sun, 6th Jun 2021, 9:54 AM IST
  • सीएम नीतीश कुमार ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि राज्य में सभी प्रकार की लोकसेवाओं को एक ही प्लेटफॉर्म पर लाया जाए. अभी तक जाति, आवासीय प्रमाणपत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, आचरण प्रमाणपत्र जैसी लोकसेवाएं एक ही प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध नहीं है. इस कारण इन सेवाओं के लिए लोगों को अलग-अलग जगह जाना पड़ता है.
राज्य में सभी लोकसेवाएं मिलेंगी एक प्लेटफॉर्म पर (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना. अब से सभी लोकसेवाएं एक ही प्लेटफार्म पर मिल सकेंगी. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को बिहार लोक सेवाओं का अधिकार अधिनियम के कार्यान्वयन की समीक्षा के दौरान पदाधिकारियों को यह निर्देश दिया है कि ऐसी सुविधा शुरू की जाए, जिससे जनता को एक ही प्लेटफार्म पर सभी लोकसेवाएं उपलब्ध हो सके. बता दें कि अभी तक कोई ऐसा प्लेटफार्म नहीं बना पाया जहां एक साथ सभी लोकसेवाएं प्राप्त हो पाएं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहते हैं कि बिहार लोकसेवाओं का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत लोगों को सेवाएं प्रदान करने के लिए जिला, अनुमंडल व प्रखंड स्थल पर केंद्र बनाए गए गए हैं जो एक निश्चित समय में लोगों को सुविधाएं मुहैया करा रहे हैं. अब तक 25 करोड़ से अधिक आवेदनों पर लोगों ने इस कानून के माध्यम से सेवाएं प्राप्त की हैं. पहले प्रमाण पत्र लेने के लिए लोगों को अलग-अलग जगह जाना पढ़ता था. जिसमें समय और खर्च दोनों लगता था.

बिहार में सवा लाख टीचरों की भर्ती का 9 जून से आवेदन शुरू, फुल डिटेल्स

आपको बता दे कि अभी तक किसी व्यक्ति को जाति, आवासीय प्रमाणपत्र, राशनकार्ड, भूमि स्वामित्व, ड्राइविंग लाइसेंस, दाखिल खारिज, आचरण प्रमाणपत्र आदि सभी सेवाएं किसी एक प्लेटफार्म पर नहीं मिल पाती हैं. ऐसे में यदि कोई एक प्लेटफार्म खुल जाए जिसपर जाकर आसानी से सभी लोकसेवाओं की सुविधा प्राप्त हो सके, तो इससे जनता की काफी परेशानियां खत्म हो जाएंगी. यही सोचते हुए नीतीश कुमार ने यह निर्देश दिए हैं कि जल्द से जल्द ऐसे प्लेटफार्म खोले जाएं जिससे जनता को सुविधाएं प्राप्त हों.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें