लोजपा नेताओं के जेडीयू में जाने पर भड़के चिराग पासवान, बताया 'गद्दार'

Smart News Team, Last updated: Thu, 18th Feb 2021, 10:01 PM IST
  • लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के 208 नेता एक साथ पार्टी का हाथ छोड़ जदयू में शामिल हो गए. लोजपा ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए बयान जारी कर कहा है कि जदयू को बिहार बिहारी फर्स्ट मुहिम के गद्दार मुबारक हों.
चिराग पासवान ने कहा कि वे पहले भी एनडीए के साथ थे, अब भी साथ हैं

पटना: बिहार में फिर से एक बार एक राजनीतिक माहौल गर्म है. लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के 208 नेता एक साथ पार्टी का हाथ छोड़ जदयू में शामिल हो गए. लोजपा ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए बयान जारी कर कहा है कि जदयू को बिहार बिहारी फर्स्ट मुहिम के गद्दार मुबारक हों. हमारी पार्टी समुद्र मंथन के दौर से गुजर रही है. जिससे लोजपा से निकले लोग जदयू में चले गए. गौरतलब है कि लोजपा से निकाले गए पूर्व प्रवक्त केशव सिंह के नेतृत्व में गुरुवार को एक साथ 208 नेता लोजपा को छोड़ जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में शामिल हो गए.

जिस पर लोजपा ने कहा कि 2020 के बिहार विधान सभा के चुनाव में लोजपा ने अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया और ये सभी कमजोर और गद्दार नेता पार्टी छोड़ भाग गए. जिन्होंने बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट से गद्दारी कर बीते चुनाव में जेडीयू के प्रत्याशियों का साथ दिया. लेकिन जनता ने जदयू को चुनाव में सबक सिखा दिया. लोजपा ने कहा है कि इन गद्दारों के जदयू में जाने से अब ये तय हो गया है कि जदयू अब खत्म होगी. 

LJP में उठे बगावत के सुर, 5 दर्जन नेता थाम सकते हैं JDU का हाथ

जदयू को गद्दार मुबारक हो, लोजपा की कमान चिराग पासवान जैसे मजबूत नेता के कंधे पर है. बिहार एवम बिहारी फर्स्ट के लिए सत्ता को लात मारने वाले शेर चिराग पासवान हैं. 24 लाख मतदाताओं ने बिहार फर्स्ट को अपनाया है. इन गद्दारों को बिहार की जनता माफ नहीं करेगी. लोजपा ने बोला कि गद्दारों का नही, बिहार फर्स्ट नारे के साथ पार्टी पूरे बिहार में कार्यक्रम करेगी.

तेजस्वी ने CM नीतीश पर साधा निशाना, कहा- 63 घोटाले क्या भूतों ने किए

वहीं जदयू में शामिल केशव सिंह ने कहा कि चिराग पासवान पार्टी के सांसद - विधायक को कोई महत्व नहीं देते बल्कि वो अपने अहंकार से पार्टी को चलाने की कोशिश करते हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें