बिहार में नौकरी-भर्ती मोड में नीतीश सरकार, विभागों से मांगा खाली पद का हिसाब

Smart News Team, Last updated: 20/11/2020 02:17 PM IST
बिहार में नई सरकार का गठन होने के बाद नीतीश सरकार ने बिहार में संविदा पदों पर भर्तियो की तैयारी पूरी कर ली है. सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी विभागो से पत्र लिखकर रिक्त पदों की जानकारी मांगी है.
बिहार में प्रशासन विभाग ने संविदा पदों की जानकारी विभागों से मांगी है.

बिहार में एनडीए की सरकार बनने के बाद नीतीश सरकार ने प्रदेश के युवाओ के नौकरी देंने की वादे पर काम करना शुरू कर दिया है. सरकार ने इस संबंध में सभी सरकारी विभागों के पर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव, सचिव व सभी विभागों के विभागाध्यक्षों को पत्र भेजकर रिक्तियों की जानकारी मांगी गई है. आने वाले समय में सभी विभागो निकट भविष्य में संविदा पर होनेवाली नियुक्ति को लेकर जानकारी मांगी है. जानकारी के अनुसार विभाग में जल्द ऐसे संविदा आधारित नौकरी मिल सकती हैं. जो काफी समय से रिक्त पड़े है.

बुधवार को सामान्य प्रशासन विभाग ने संविदा वाले पदों को लेकर एक पत्र जारी किया था. इसमें चार बिंदुओं पर जानकारी मांगी गई थी. लेकिन गुरुवार को विभाग ने जो पत्र जारी किया है उसमें चार बिंदुओं पर मांगी गई जानकारी की फिलहाल आवश्यकता नहीं होने की बात कही गई है. विभाग के अनुसार फिलहाल ऐसे पदों को लेकर सूचना मांगी गई है जिससे आने वाले समय में संविदा के आधार पर नियुक्ति की जा सके.

 

सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा विभागो को लिखा गया पत्र

बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबधन ने चुनाव में वादा किया था कि उनकी सरकार वनती है तो बिहार में 10 लाख लोगो को नौकरी दी जायेगी. कुछ दिनों बाद एनडीए ने भी 19 लाख नौकरी देनें का वादा कर दिया था. लोगों का मानना है कि नीतीश सरकार ने फिर से सत्ता में आने के बाद नौकरियों के वादे को पूरा करती दिख रही है.

घोटाले के आरोपों से घिरे बिहार के नव नियुक्त शिक्षा मंत्री मेवालाल का इस्तीफा

नई सरकार के पहले विधानसभा सत्र के लिए जीतन राम मांझी बने प्रोटेम स्पीकर

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें