बिहार: पत्रकारों को पहले लगेगा कोरोना का टीका, मिला फ्रंटलाइन वर्कर्स का दर्जा

Smart News Team, Last updated: 02/05/2021 09:08 PM IST
  • सीएम नीतिश कुमार के निर्देश पर पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल करते हुए इन्हें प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण का निर्णय लिया गया है.
बिहार: पत्रकारों को पहले लगेगा कोरोना का टीका, मिला फ्रंटलाइन वर्कर्स का दर्जा (फाइल फ़ोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के वैक्सीनेशन को लेकर रविवार शाम बड़ा ऐलान किया सीएम नीतिश कुमार के निर्देश पर पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल करते हुए इन्हें प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण का निर्णय लिया गया है. इसकी जानकारी मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में दी गई है. 

बिहार सरकार ने फैसला किया है की राज्य सरकार द्वारा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त सभी पत्रकारों के साथ-साथ जिला जनसंपर्क पदाधिकारी द्वारा सत्यापित गैर मान्यताप्राप्त पत्रकारों जैसे की प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक एवं वेब मिडिया आदि को प्राथमिकता के आधार पर कोवीड19 टीकाकरण हेतु फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में शामिल करने का निर्णय लिया गया है. ऐसे सभी पत्रकारों को चिन्हित कर प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण किया जायेगा.

जेल से निकलते ही RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने शहाबुद्दीन की मौत पर जताया दुख

ओडिशा में भी मिला है पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स का दर्जा

उड़ीसा सरकार द्वारा रविवार को जारी किए गए बयान में कहा गया है कि ओडिशा के तमाम पत्रकार फ्रंटलाइन वॉरियर हैं. उन्होंने इस कोरोना काल में बेहतरीन काम किया है, लोगों तक जरूरी खबर पहुंचाई है, कोरोना को लेकर जागरूक किया है और इस महायुद्ध में एक सक्रिय भूमिका निभाई है. ये देश का पहला राज्य है जिसने पत्रकारों को फ्रंटलाइन वॉरियर का तमगा दिया है.

कोरोना काल में गरीबों को दो महीने का मुफ्त राशन देगी नीतीश सरकार, जानें डिटेल्स

मालूम हो कि ओडिशा में पत्रकारों को पहले ही कई तरह की सुविधा दी गई हैं. राज्य के 6,994 पत्रकारों को 2 लाख का स्वास्थ्य बीमा मिल रहा है. वहीं जिन पत्रकारों का काम करते हुए कोरोना काल में निधन हुआ है, सरकार की तरफ से उन्हें भी 15 लाख रुपये की सहायता दी गई है. राज्य में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान 11 पत्रकारों ने अपनी जान गंवाई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें