मिड-डे मिल के नमक-तेल से लेकर सब्जी तक की खरीद कैशलेस, नीतीश सरकार ने की ये तैयारी

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Mon, 1st Nov 2021, 11:08 AM IST
  • मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार बिहार मिड-डे मिल के लिए नमक-तेल से लेकर सब्जी और अन्य सामान की खरीददारी के लिए कैशलेस प्लान बनाया है. जिसके जरिए अब बिना कैश के ही मिड-डे मिल का सामान खरीदा जाएगा. इसके बाद जिससे सामान खरीदा जाएगा उसके कहते में सीधे रकम ट्रांसफर हो जाएगा.
मिड-डे मिल के नमक-तेल से लेकर सब्जी तक की खरीद कैशलेस नीतीश सरकार ने की ये तैयारी

पटना. बिहार के मिड-डे मिल के लिए नमक-तेल से लेकर सब्जी तक की खरीददारी अब कैश पेमेंट के रूप एमए नहीं होगी. अब इनकी खरीद पूरी तरह से डिजिटल मोड पर किया जाएगा. अब जिससे मिड-डे मिल खाने के लिए खरीदी जाने वाले समान का भुगतान सीधे दुकानदार या वेंडर विशेष के खाते उसका पैसा भेज दिया जाएगा. जिसके लिए सिंगल नोडल एकाउंट का सिस्टम तैयार किया गया है. जिसके बारे में बिहार राज्य मध्याह्न भोजन निदेशक सतीश चंद्र झा ने बताया.

सतीश चंद्र झा ने बताया कि ऐसा सिस्टम तैयार किया गया है कि सिंगल नोडल एकाउंट से स्कूल का अकाउंट कनेक्ट किया जाएगा. जब उससे सामान खरीदा जाएगा तो दुकानदार के खाते में पैसा ट्रांसफर हो जाएगा. जैसे पैसे ट्रांसफर होगा इसकी जानकारी मिड-डे मिल निदेशालय और  शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अफसरों के पास पहुंच जाएगी. साथ ही कहा कि इस सिस्टम के जरिए मिड-डे मिल भोजन कि खरीददारी में पारदर्शिता आएगी. साथ ही यह भी पता चल जाएगा कि मध्याह्न भोजन के लिए किस-किस वस्तु की खरीददारी किया गया है.

पटना प्रशासन का नया प्लान, छठ पूजा पर घरों तक गंगाजल पहुंचाने के लिए लगेंगे 45 टैंकर

इसके साथ ही उन्होंने कहा की ऐसा सिस्टम बनाने वाला बिहार देश का पहला राज्य है. वहीं बता दें कि इससे पहले मिड-डे मिल खाने के लिए तेल से लेकर सब्जी तक की खरीददारी पूरी तरह से कैश पेमेंट के जरिए किया जाता था. वहीं लॉकडाउन के दौरान जब मिड-डे मिल भोजन बंटना बंद हो गया तो प्रशासन ने नियम निकाला कि स्कूल आकर बच्चों के अभिभावक चावल ले जा सकते है. जसिके बाद करीब 75 फीसद अभिवावक ही चावल लेने पहुंचे थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें