शराबबंदी समीक्षा बैठक में CM नीतीश का बड़ा फैसला, शराब मिलने पर थानेदार होंगे सस्पेंड

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Tue, 16th Nov 2021, 10:42 PM IST
  • मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शराबबंदी पर मंगलवार को जिलाधिकारी और एसपी के साथ बैठक किया. इस बैठक के दौरान निर्णय लिया गया कि सेन्ट्रल टीम राज्यभर में छापेमारी मिलेगी. वहीं शराब मिलने पर थानेदार को सस्पेंड किया जाएगा. साथ ही दस सालों तक थाने में ड्यूटी नहीं दिया जाएगा.
CM नीतीश की शराबबंदी समीक्षा बैठक खत्म, शराब मिलने पर थानेदार होंगे सस्पेंड (HT photo)

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को शराबबंदी कानून को और प्रभावशाली बनाने के लिए समीक्षा बैठक किया. साथ ही सीएम नीतीश ने कई कड़े फैसले भी लिए. इस बैठक में यह निर्णय हुआ कि सेंट्रल टीम राज्य भर में छापेमारी करेगी. इस दौरान कही भी शराब बरामद हुई तो संबंधित थानेदारों को तत्काल सस्पेंड कर दिया जाएगा. इतना ही नहीं अगर सरकारी कमर्चारी गड़बड़ करेंगे तो उन्हें भी बख्सा नहीं जाएगा. सीएम नीतीश की शराबबंदी को लेकर बैठक सुबह 11 बीके से लेकर शाम 6 बजे तक चली. जिसमें डीएम-एसपी समेत अन्य अधिकारी भी शामिल हुए थे. 

सीएम नीतीश ने इस बैठक में कई दिशा-निर्देश जारी किया. जिसके बारे में डीजीपी इज़के सिंघल ने बताया कि चौकीदारों को गांवों में शराब के धंधे की सूचना थाने में देनी होगी. वहीं शराबबंदी में लापरवाही बरतने वाले थानेदारों को अगले दस साल तक थाने में ड्यूटी नहीं दिया जाएगा. साथ ही अगर उसमें थानेदार की संलिप्तता पाई जाती है तो उन्हें बर्खास्त कर उनके ऊपर कार्रवाई किया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पुलिस शराबबंदी को प्रभावी रूप से लागू करेगी. साथ ही किसी तरह का कानून को प्रभावी रूप से लागू करने पर व्यवधान होता है तो संबंधित व्यक्ति और कर्मी के ऊपर कार्रवाई किया जाएगा. 

VIDEO: छात्रों ने मांगी मदद तो बिहार की उपमुख्यमंत्री रेणु देवी ने दी गाली

इसके साथ ही अपर मुख्य सचिव चैतन्य प्रसाद ने कहा कि सीमावर्ती इलाके में शराब तस्करी के जो रूट है उनपर विशेष निगरानी रखा जाएगा. साथ ही संबंधित इलाकों को सील किया जाएगा. वहीं कॉल सेंटर पर सूचना मिलते ही तत्काल कार्रवाई किया जाएगा. इतना ही नहीं होम डिलीवरी करने वालों पर पैनी नजर रखी जाएगी. उनकी पहचान कर सख्त कार्रवाई किया जाएगा. इसके अलावा डीजीपी ने कहा कि पटना में विशेष निगरानी रखा जाएगा. पटना जिला पूरे प्रशासन की छवि होती है. ऐसे में पटना में विशेष निगरानी होगी. शराबबंदी के उलंघन करने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा. चाहे वह कोई भी हो.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें