नीतीश कुमार आज शाम साढ़े चार बजे लेंगे CM पद की शपथ,ये 15 नेता बन सकते हैं मंत्री

Smart News Team, Last updated: Mon, 16th Nov 2020, 11:39 AM IST
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत 15 विधायक आज शाम साढ़े 4 बजे शपथ ले सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक नई सरकार के इस पहले शपथ ग्रहण समारोह में जो नेता शपथ लेंगे उनमें छह जदयू, छह भाजपा और एक-एक हम और वीआईपी से होंगे. ऐसी स्थिति में भाजपा और जदयू से छह-छह लोगों का शपथ होगा.
शाम साढ़े 4 बजे शपथ ले सकते हैं नीतीश कुमार

पटना- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत 15 विधायक आज शाम साढ़े 4 बजे शपथ ले सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक नई सरकार के इस पहले शपथ ग्रहण समारोह में जो नेता शपथ लेंगे उनमें छह जदयू, छह भाजपा और एक-एक हम और वीआईपी से होंगे. ऐसी स्थिति में भाजपा और जदयू से छह-छह लोगों का शपथ होगा. बताया गया कि शपथ ग्रहण समारोह राजभवन में होगा.

नीतीश के डिप्टी सीएम की रेस में अब NDA के उपनेता तारकेश्वर सिंह भी शामिल

हालांकि, मंत्रिमंडल के स्वरूप और सोमवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह को लेकर मुख्यमंत्री आवास में शाम साढ़े छह बजे से लेकर देर रात तक मंथन का दौर जारी रहा. इस मंथन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा भाजपा नेता देवेन्द्र फडणवीस, भूपेन्द्र यादव, संजय जायसवाल, नागेन्द्र जी, तारकिशोर प्रसाद जबकि जदयू नेता विजय कुमार चौधरी और आरसीपी सिंह मौजूद रहे. जानकारी के मुताबिक जदयू से नीतीश कुमार मुख्यमंत्री जबकि बिजेन्द्र प्रसाद यादव मंत्री, वीआईपी से मुकेश सहनी जबकि हम प्रमुख जीतन राम मांझी के पुत्र एमएलसी डॉ. संतोष सुमन मंत्री पद की शपथ लेंगे. वहीं, भाजपा से तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी का शपथ लेना तय माना जा रहा है. अगर अधिक की संख्या पर मुहर लगी तो भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार, नंदकिशोर यादव, मंगल पांडेय, जदयू के श्रवण कुमार, नरेन्द्र नारायण यादव, महेश्वर हजारी आदि भी शपथ ले सकते हैं.

आज नीतीश कुमार 7 वीं बार बिहार सीएम पद की शपथ लेंगे, राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह

सूत्रों के मुताबिक एनडीए की नई सरकार का पहला शपथ ग्रहण समारोह फिलहाल छोटे स्वरूप में होगा. सीएम समेत 14 मंत्रियों को शपथ दिलाने के बाद निकट भविष्य में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा. अधिकतम 36 मंत्री हो सकते हैं. विधायकों की संख्या के लिहाज से भाजपा को सबसे अधिक 20-21 जबकि जदयू को सीएम समेत 13-14 मंत्री मिलेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें