अनंतनाग में दो बिहारी मजदूरों की हत्या, CM नीतीश ने जम्मू कश्मीर LG से की बात

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Sun, 17th Oct 2021, 10:36 PM IST
  • जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग के वनपेह में रविवार को आतंकी हमले में बिहार के दो निवासियों की मौत हो गई. वहीं इस हमले में एक घायल है. आतंकी हमलों में बिहार ले निवासियों की मौत की सूचना मिलने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से फोन पर बात की. साथ ही उन्हें मदद की घोषणा की. पिछले चार दिनों में आतंकी हमले में चार बिहारी प्रवासियों की मौत हो चुकी है
अनंतनाग में दो बिहारी मजदूरों की हत्या, CM नीतीश ने जम्मू कश्मीर LG से की बात

पटना. जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमले में दो बिहारी प्रवासियों के हत्या और एक के घायल होने की सूचना मिलने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वहां के उपराज्यपाल मनोज सिंह से फोन पर बात किया. सीएम नीतीश कुमार ने इस घटना को काफी दुखद बताया है. साथ ही उन्होंने मजदूरों की हत्या पर गंभीर चिंता व्यक्त की है. इतना ही नहीं मारे गए दोनों बिहारी प्रवासियों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 2-2 लाख रुपए मदद की घोषणा की है. साथ ही उन्होंने आतंकी हमले में घायल चुनचुन ऋषिदेव के जल्द ठीक होने की कामना की है.

आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में गैर मुस्लिम और गैर कश्मीरी लोगों को निशाना बना रहे है. इसी सिलसिले में रविवार को आतंकियों ने दो बिहारियों के ऊपर हमला कर दिया. जिसमें राजा ऋषिदेव और योगेंद्र ऋषिदेव की आतंकी हमले में जान चली गई. वहीं इस हमले में चुनचुन ऋषिदेव बुरी तरह से घायल हो गई है. जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है.

शनिवार को भी आतंकी हमले में एक बिहार निवासी अरविंद कुमार की मौत हो गई थी. जो बांका जिले का निवासी था. अरविंद की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. जिनका शव रविवार को पटना के लिए हवाई जहाज से रवाना किया गया है. जो सोमवार सुबह पटना एयरपोर्ट पहुंच जाएगा. अरविंद का शव उनके भाई मंटू और कुछ अन्य परिजन लेकर आ रहे है.

बता दें कि अक्टूबर महीने में अभी तक 10 लोगों की आतंकी हमले में जान जा चुकी है. जिसमें 5 अल्पसंख्यक समुदाय से थे. इतना ही नहीं गर्मियों में आतंकियों ने श्रीनगर में 6 लोगों की हत्या कर दी थी. वहीं आधिकारिक आंकड़ों को देंखे तो 2021 में आतंकी हमलों में कुल 31 लोगों की जान जा चुकी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें