कांग्रेस की सरकार से मांग, बिहार लौट रहे प्रवासी मजदूरों को हर महीने मिलें 6 हजार

Smart News Team, Last updated: 17/04/2021 12:14 AM IST
  • बिहार में कोरोना की रोकथाम को लेकर राज्यपाल फागू चौहान ने 17 अप्रैल को सर्वदलीय बैठक बुलाई है. इससे पहले कांग्रेसी नेताओं ने प्रवासी मजदूरों को हर महीने 6 हजार रुपए देने की मांग की है.
बिहार की राज्यपाल फागू चौहान ने 17 अप्रैल को सर्वदलीय मीटिंग बुलाई है. प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. बिहार में कोरोना के बढ़ते हुए मामले को देखते हुए लॉकडाउन की आशंका से कई मजदूर दूसरे राज्य से बिहार लौट रहे हैं. कोरोना को लेकर राज्यपाल फागू चौहान ने शनिवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है. इससे पहले कांग्रेस नेता रंजीत रंजन ने दूसरे राज्यों से आ रहे मजदूरों को हर महीने 6-6 हजार रुपए देने की मांग की है.

बिहार में कोरोना संक्रमण को देखते हुए कांग्रेस कमेटी के रिसर्च विभाग और मैनिफेसटो कमिटी के चेयरमैन आनंद माधव ने पंचायत चुनाव को स्थगित करने की मांग की है. उन्होंने चुनाव आयोग से स्थिति सामान्य होने तक चुनाव न कराने का अनुरोध किया है. माधव ने कहा कि इस साल राजनैतिक रैलियों में कोरोना ने सबसे ज्यादा कहर मचाया है.

विपक्ष ने नीतीश सरकार को घेरा, CM बोले-17 अप्रैल को हाई लेवल मीटिंग के बाद फैसला

कांग्रेस नेता आनंद माधव ने कहा कि राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 25 हजार के आसपास पहुंच गई है. ऐसे में यदि पंचायत चुनाव कराए जाते हैं तो महामारी की वजह से कितने लोगों की मौत होगी, इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है. आपको बता दें कि बिहार में कोरोना से निपटने को लेकर पीएम नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर राज्यपाल फागू चौहान ने शनिवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है.

CM नीतीश ने ली कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज, बिहार में नाइट कर्फ्यू पर कही ये बात

सर्वदलीय बैठक से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को सभी विभागों के शीर्ष अधिकारियों के साथ मीटिंग की है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस बैठक में सीएम नीतीश कुमार ने कोरोना संक्रमण के हालात, अस्पतालों में बेड की संख्या, ऑक्सीजन की सप्लाई और इलाज की समीक्षा की है. आपको बता दें कि बीते 24 घंटे में बिहार में कोरोना के 6,333 नए मामले सामने आए हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें